मेरठ दर्पण
Breaking News
राजनीति

अमित शाह तक पहुंचा पहलवानों का मामला, खेल मंत्री ने गृह मंत्री से की बात, आज फिर बड़ी बैठक

बृजभूषण शरण सिंह विवाद दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है। कल देर रात तक चली बैठक बैद को अब एक बड़ी खबर मिली है। मालूम हो कि भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष व भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह पर महिला पहलवानों के आरोपों को लेकर केंद्र सरकार हरकत में आ गई है।

पहलवानों के मुद्दे पर खुद केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने मोर्चा संभाला। हिमाचल प्रदेश से लौटते समय उन्होंने अपने आवास पर खिलाड़ियों के साथ बैठक की। मुलाकात के दौरान उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भी बात की। सूत्रों के मुताबिक, अमित शाह आज बृजभूषण शरण सिंह को बुला सकते हैं। खेल मंत्री और पहलवानों के बीच हुई मुलाकात काफी सकारात्मक रही। इसके साथ ही आज फिर पहलवानों के साथ बैठक बुलाकर कई मुद्दों पर चर्चा की गई है। एक दिन पहले खेल मंत्रालय ने भारतीय कुश्ती महासंघ को नोटिस भेजकर 72 घंटे में जवाब मांगा था।

गौरतलब है कि कल देर रात हुई बैठक में बजरंग पुनिया, रवि दहिया, बबीता फोगट, विनेश फोगट, साक्षी मलिक और अंशु मलिक मौजूद थे। खिलाड़ियों के सख्त रुख के चलते बृजभूषण शरण सिंह पर इस्तीफा देने का दबाव बढ़ गया है। इससे पहले ओलिंपिक व अन्य अंतरराष्ट्रीय पदक विजेता पहलवान अगले दिन गुरुवार को जंतर-मंतर पर धरने पर बैठ गए।

इसके लिए पूर्व पहलवान बबीता फोगाट केंद्र सरकार की ओर से जंतर-मंतर पहुंचीं और प्रदर्शनकारी पहलवानों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। उनके साथ बजरंग पुनिया और साक्षी मलिक ने सरकार के प्रतिनिधियों से मुलाकात की। बातचीत का कोई ठोस नतीजा नहीं निकलने पर पहलवानों ने प्रेस कांफ्रेंस में नाराजगी जताई।

सबसे ज्यादा गुस्से में दिखीं विनेश फोगाट ने कहा कि बृजभूषण शरण सिंह पर हमने जो आरोप लगाए हैं वह पूरी तरह से सच हैं। कल तक हमारे पास एक ही महिला पहलवान थी, लेकिन अब चार-पांच पहलवान ऐसी हैं जिनके साथ गलत हुआ हैं। हमें आगे आने के लिए मजबूर नहीं होना चाहिए। हम सम्मान बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। हम सबके सामने नहीं बताना चाहते कि हमारे साथ क्या हुआ।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम न केवल अध्यक्ष का इस्तीफा लेंगे बल्कि उन्हें जेल भी भेजेंगे। हम कानूनी तौर पर आगे नहीं बढ़ना चाहते, लेकिन अगर कोई हल नहीं निकला तो हम प्राथमिकी भी दर्ज कराएंगे। विनेश ने कहा, अगर हम जैसे पहलवानों के साथ ऐसा हो रहा है तो दूसरी लड़कियां कितनी सुरक्षित हैं। अगर हम भी सुरक्षित नहीं हैं तो भारत में कोई लड़की पैदा नहीं होनी चाहिए। जान चली जाए तो मंजूर है, लेकिन कुश्ती का भविष्य सुधारते हुए मरेंगे।

इस पर बजरंग पुनिया ने कहा कि हम चाहते हैं कि कुश्ती संघ भंग किया जाए। अगर वे इस्तीफा भी देते हैं, तो वे अपने लोगों को वहां फिर से लगा देंगे। प्रदेश कुश्ती संघ में उनके अपने लोग भी बैठे हैं, इसलिए हम संघ को ही भंग करना चाहते हैं।

साक्षी मलिक ने कहा, हमें केरल और महाराष्ट्र की महिला पहलवानों के फोन आ रहे हैं, जिनके साथ गलत किया गया है। उन्होंने कहा, ‘मैं पीएम नरेंद्र मोदी से अपील करती हूं कि न्याय मिलना चाहिए।’ अंशु मलिक ने कहा कि पाप का घड़ा भर गया है। कुश्ती संघ में हर कोई भ्रष्ट है। बृजभूषण शरण सिंह जब जूनियर महिला कुश्ती प्रतियोगिता में हिस्सा लेने बुल्गारिया जाते थे तो होटल के खुले कमरे में सोते थे।

भारतीय ओलंपिक संघ की अध्यक्ष पीटी उषा ने ट्वीट किया, ‘अध्यक्ष के रूप में मैं पहलवानों के इस मुद्दे पर अधिक सदस्यों के साथ चर्चा कर रही हूं। अगर किसी एथलीट को कोई समस्या है तो उसे हमसे अपनी समस्या पर चर्चा करनी चाहिए।’

Related posts

जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करना मेरी प्राथमिकता : डॉ अमनदीप कौर अरोड़ा

Ankit Gupta

भारतीय जनता पार्टी जनपद मेरठ की सिवालखास विधानसभा का वर्चुअल सम्मेलन संपन्न

Mrtdarpan@gmail.com

आगामी चुनावो में सोसल मीडिया की भूमिका अहम् – सतीश पुनिया

Ankit Gupta
Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News