मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठ

आयुक्त ने की स्मार्ट सिटी, सेफ सिटी सहित महत्वपूर्ण परियोजनाओं की समीक्षा

राज्य स्मार्ट सिटी योजनान्तर्गत 100 करोड रू0 का प्रोजेक्ट बनाकर शासन को भेजे-आयुक्त

राज्य स्मार्ट सिटी परियोजनान्तर्गत स्कूलो व नौचंदी ग्राउण्ड का होगा कायाकल्प, बनेगी मल्टीलेवल पार्किंग-आयुक्त

 

मेरठ – स्मार्ट सिटी, सेफ सिटी, सोलिड वेस्ट मैनेजमेन्ट व स्ट्रीट वेण्डर मार्केंट आदि विषयों पर समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुये आयुक्त अनीता सी0 मेश्राम ने कहा कि सेफ सिटी परियोजनान्तर्गत जनपद में पिंक बूथ, पिंक टाॅयलेट बनाये जाये तथा जिन भीडभाड वाले स्थानों पर प्रकाष आदि की व्यवस्था मानक अनुरूप नहीं है उसके लिए महिला पुलिस क्षेत्राधिकारी के नेतृत्व में टीम बनाकर पूरे शहर का भ्रमण कर तीन दिन में ऐसे स्थलों का चिन्हांकन कर अपनी आख्या दें। उन्होने कहा कि राज्य स्मार्ट सिटी योजनान्तर्गत दो वर्षों में किये जा सकने वाले कार्यों के लिए 100 करोड रू0 का प्रोजेक्ट बनाकर शासन को भेजे।
आयुक्त कार्यालय में आहूत बैठक की अध्यक्षता करते हुये आयुक्त अनीता सी0 मेश्राम ने कहा कि शहर में स्ट्रीट वेण्डर मार्केट बनाया जाये। उन्होने कहा कि नगर निगम अपने द्वारा चिन्हित किये गये 04 स्थानों पर स्ट्रीट वेण्डर मार्केट बना रहा है। उन्होने कहा कि नगर निगम स्ट्रीट वेण्डर मार्केट का कार्य जल्द पूर्ण कर उसका उद्घाटन जनप्रतिनिधियों से कराये तथा वेण्डर मार्केट में जिन स्ट्रीट वेण्डर्स को जगह दी जाये उन सभी को प्रधानमंत्री स्वः निधि योजनान्तर्गत ऋण भी दिया जाये।
आयुक्त ने कहा कि नगर निगम लोहिया नगर डम्पिंग ग्राउण्ड को बंद करने की प्रक्रिया पर कार्य करे तथा एक अन्य चिन्हित जगह पर कूडा डलवाने की प्रक्रिया प्रारंभ करें तथा इसके लिए आवष्यक एनओसी भी सक्षम स्तर से प्राप्त करें। उन्होने कहा कि जनपद को कूडे से मुक्त करना है। उन्होने निर्देषित किया कि कैटल कालोनी के लिए जगह का चिन्हांकन जिला प्रषासन की मदद से किया जाये तथा गोबर के निस्तारण की समुचित व्यवस्था की जायें। उन्होने मेरठ विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देषित किया कि वह शहर में कुछ जगहो पर नो-व्हीकल जोन बनाये तथा एक विकलांग पार्क भी आवष्यक रूप से बनाये।
आयुक्त ने कहा कि राज्य स्मार्ट सिटी परियोजनान्तर्गत 100 करोड रू0 के ऐसे कार्य जिनको दो वर्षों में पूर्ण किया जा सकता है, पर प्रोजेक्ट बनाने के लिए निर्देषित किया। उन्होने कहा कि इसके लिए बेसिक शिक्षा विभाग के कुछ स्कूलो को कायाकल्प योजनान्तर्गत स्मार्ट स्कूल के रूप में परिवर्तित किया जाये तथा मल्टीलेवल पार्किंग, नौचंदी ग्राउण्ड का कायाकल्प व इंटीग्रेेटेड ट्रेफिक मैनेजमेन्ट सिस्टम (आईटीएमएस) के अंतर्गत कुछ कार्यों को इसमें लिया जाये।
आयुक्त ने कहा कि सेफ सिटी परियोजनान्तर्गत शहर के प्रमुख चैराहों पर पिंक बूथ बनाये जाये तथा पिंक टाॅयलेट भी बनाये जाये। उन्होने बताया कि आईटीएमएस प्रोजेक्ट मा0 मुख्यमंत्री की घोषणा में से है तथा प्रदेश के प्रत्येक महानगर में इस पर कार्य किया जाना है। उन्होने बताया कि  (आईटीएमएस) के लिए केपीएमजी संस्था को कंसल्टेन्ट नियुक्त किया गया है। उन्होने निर्देषित किया कि सिटी बसों में सीसीटीवी, जीपीएस व पैनिक बटन की व्यवस्था के लिए सिटी ट्रांसपोर्ट कारपोरेषन के अधिकारियों से समन्वय करें।
इस अवसर पर जिलाधिकारी के0 बालाजी, उपाध्यक्ष एमडीए मृदुल चैधरी, नगरायुक्त अरविन्द चैरसिया, सचिव एमडीए प्रवीणा अग्रवाल, एसपी ट्रैफिक जितेन्द्र श्रीवास्तव, मुख्य अभियंता एमडीए दुर्गेश श्रीवास्तव, प्रदूषण अधिकारी योगेन्द्र कुमार सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Related posts

वेंक्टेश्वरा के छात्र कैंसर के प्रति लोगो को जागरुक करने के लिए अभियान चलायेगे- डॉ0 सुधीर गिरि

Mrtdarpan@gmail.com

विनायक विद्यापीठ में किया गया पौधारोपण

जागृति विहार में माइक्रो डोनेशन कैंप का हुआ आयोजन

Ankit Gupta

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News