मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठ

शोभित विश्विद्यालय में 42वा अखिल भारतीय बुद्धिजीवी सम्मेलन का आयोजन

मेरठ- मोदीपुरम स्थित शोभित विश्विद्यालय में आज दिनांक 21 फरवरी 2021 को 42वा अखिल भारतीय बुद्धिजीवी सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें विषय “मानवाधिकार- बुद्धिजीवियों का योगदान” पर चर्चा की गयी।
इसी के साथ आज स्व0 श्री भव्य निधि शर्मा (अधिवक्ता) की स्मृति में मेरठ एन0 सी0 आर0 रत्न 2021 पुरुस्कार वितरण समारोह का भी आयोजन किया गया जिसमे मेरठ के बुद्धिजीवी, समाजसेवी एवं राजनीतिक क्षेत्र के सम्मानित व्यक्तियों को इस पुरुस्कार से अलंकृत किया गया।

अखिल भारतीय बुद्धिजीवी संस्था एक गैर राजनीतिक संस्था है इस संस्था की नींव पूर्व प्रधानमंत्री स्व0 श्रीमती इंदिरा गांधी जी के द्वारा 20 दिसम्बर 1981 को की गयी थी। यह संस्था साहित्य, विज्ञान एवं तकनीकी, मेडिकल साइंस, राजनीतिक, फिल्मी और कला जगत एवं समाज सेवा आदि के बुद्धिजीवियों को उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित करती है।

कार्यक्रम का प्रारम्भ मां सरस्वती के समक्ष द्वीप प्रज्वलित करके किया गया जिसमें विश्विद्यालय के कुलपति डॉ अमर प्रकाश गर्ग, एडवोकेट प्रकाश निधि शर्मा, जस्टिस राजेश टंडन , डॉ सुधा गर्ग सम्मलित हुए। सभी सम्मानित व्यक्तियों को सेंपलिंग एवं अंगवस्त्र देकर उनका स्वागत किया गया।

एडवोकेट प्रकाश निधि शर्मा ने सर्वप्रथम अतिथियो का स्वागत किया एवं इस संस्था के उद्देश्यों के विषय में अवगत कराया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  जस्टिस  राजेश टण्डन (चैयरमेन, आर्बिट्रेशन कॉउन्सिल, उत्तराखंड), सुनील भराला(चैयरमेन, लेबर वैलनेस बोर्ड, उत्तरप्रदेश) रहे, विधायक डॉ सोमेन्द्र तोमर उपस्थित रहे।

विश्विद्यालय के कुलपति ने सभी अतिथियों का स्वागत किया और सबको मानवाधिकारों के विषय में अवगत कराया कि मूलभूत अधिकार और स्वतंत्रताएं वे होती हैं जिनके लिए सभी स्त्री पुरुष पात्र होते हैं। मानवाधिकारों के उदाहरण में नागरिक और राजनीतिक अधिकार शामिल हैं जैसे की जीवन ओर स्वतंत्रता का अधिकार, विचार प्रकट करने की स्वतंत्रता आदि।

जस्टिस राजेश टण्डन  ने विश्विद्यालय की शिक्षा की प्रशंसा की।उन्होंने केदारनाथ की घटना का उदाहरण देते हुए बताया कि किस प्रकार वह मानव ने मानव की रक्षा की। इसी तरह हमे भी सबकी सहायता करनी चाहिए तभी सबका उद्धार हो सकता है।

विधायक सोमेन्द्र तोमर ने बताया की देश के विकास और उन्नति के लिए सभी लोगो को प्रयास करना चाहिए। उन्होंने बताया की हमारा संविधान अधिकारों के साथ साथ कर्तव्यों को भी बताता है। सभी नागरिको को अपने कर्तव्यों को जिम्मेदारी से निभाना चाहिए।

डॉ वी0 पी0 सिंह  कुलपति, सुभारती विश्विद्यालय, ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर अपने विचार रखे।

सुनील भराला  ने गरीबो की सहायता करनी चाहिए इसके बारे में सबको उत्साहित किया।

मेरठ व एन0 सी0 आर0 रत्न से सुभारती विश्विद्यालय के कुलपति डॉ वी0 पी0 सिंह, डॉ सोमेन्द्र तोमर(एम0 एलप ए0, मेरठ), डॉ एस0 पी0 मित्तल (केएम0 डी0, हीरालाल नर्सिंग होम मेरठ), अशोक कुमार अग्रवाल(बिल्डर एंड सोशल एक्टिविस्ट),  समीर खोली(सोशल एक्टिविस्ट), डॉ रोहित रविन्द्र(डेन्टिलस्ट लोकप्रिय हॉस्पिटल मेरठ), डॉ अंशुल गर्ग(एम0 डी0 एस0 एंड सोशल एक्टिविस्ट, गर्ग मल्टीस्पेशलिटी डैंटल क्लिनिक एवं आर्थोपेडिक केंद्र),  राजीव गुप्ता (बॉम्बे पेंट एंड सोशल एक्टिविस्ट), डॉ टी0 राज देव पातरु(एन0 सी0 आर0 गुरुग्राम), डॉ रेखा कृष्ण(एन0 सी0 आर0 गुरुग्राम), डॉ रूप बनर्जी(गोरखपुर), सुरेश चंद गोविल(सोशल एक्टिविस्ट), रजत के0 बंसल(सोशल एक्टिविस्ट), आशुतोष गर्ग(सोशल एक्टिविस्ट, एन0 सी0 आर0 मेरठ) उनके विशिष्ट योगदान के लिए सम्मानित किया गया।

लॉ डिपार्टमेंट के डीन डॉ मोहम्मद इमरान के द्वारा वोट ऑफ थैंक्स दिया गया, कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान गाकर किया गया। मंच का संचालन अस्सिस्टेंट प्रोफेसर्स अंजलि उपाध्याय ने किया, कार्यक्रम को सफल बनाने म डिप्टी रजिस्ट्रार, रमन शर्मा, सेन्टर फ़ॉर योगा एंड रिसर्च डिपार्टमेंट की विभागाध्यक्षा डॉ अनिता राठौर, अस्सिस्टेंट प्रोफेसर  शेलेन्द्र गोदियाल,डॉ नेहा यजुर्वेदी,  अविनव पाठक,  अशवनी कुमार,  अनिकेत कुमार , विद्यार्थीगण में कनिष्का त्यागी, नेहा दहिया, सुबोध कुमार, सार्थक, अलीना, हिमा, ज्योत्सना, अभास आदि का मुख्य योगदान रहा।

Related posts

दिल्ली-मेरठ समेत पूरे एनसीआर में 30 नवंबर तक पटाखों की बिक्री व जलाने पर एनजीटी ने लगाई रोक

विश्व गौरैया दिवस के अवसर पर संवाद फाउंडेशन ने किया जागरूक

उत्तर प्रदेश में कोरोना विस्फोट,मेरठ में भी हुआ विस्फोट

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News