मेरठ दर्पण
Breaking News
बागपत

तप करने से होता है अंत:करण पवित्र: सिद्धगुरु

सामवेद पारायण महायज्ञ का दूसरा दिन

बिनौली: जिवाना गुलियान के नीलकंठ आश्रम में चल रहे पांच दिवसीय सामवेद पारायण महायज्ञ के दूसरे दिन शनिवार को उपदेश देते हुए सिद्धगुरु महाराज ने कहा कि परमात्मा ने मानव को शुभ कर्म करने के लिए जीवन दिया है।
सिद्धगुरु महाराज ने कहा कि परमात्मा की सच्चे मन से भक्ति करनी चाहिए। जप करने से अन्तःकरण पवित्र होता है। अन्तःकरण पवित्र होगा तो हम ईश्वर की सत्ता का अनुभव कर सकते हैं। परमात्मा ने मानव चौला शुभ कर्मों को करने के लिए दिया है। परहित करके ही हम शुभ कर्म कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमे दीन दुखियों व माता पिता के सेवा करनी चाहिए तभी कल्याण हो सकता है। बरनावा लाक्षागृह के आचार्य अंकुर भारद्वाज ने ईश भक्ति से ओतप्रोत भजन प्रस्तुत किये। आचार्य अमित शास्त्री ने सस्वर वेदपाठ किया। कर्नल नरेंद्र सपत्नीक यज्ञमान रहे।

Related posts

आईआईटी जैम में तान्या का हुआ चयन

सत्य-अहिंसा- शाकाहार के लिए दिया संदेश

Mrtdarpan@gmail.com

मन पर ‘बागवानी’ प्रभाव: आपके मानसिक स्वास्थ्य को स्वस्थ रखने में मदद करता है, अध्ययन से पता चलता है

Ankit Gupta

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News