मेरठ दर्पण
Breaking News
दिल्ली

क्या आपकी लव लाइफ में भी चल रही हैं प्रॉब्लम तो अपनाए फेंगशूई के ये टिप्स

दिल्ली-  कई बार ऐसा होता है कि हमारी लव लाइफ अच्छी नहीं चलती है। चाहें हम कितनी भी कोशिश क्यों न करें स्थितियां ज्यों की त्यों ही रहती हैं। इससे रिश्तों में दरार आने की संभावना और भी बढ़ जाती है। इसका फेंगशूई से गहरा लेना-देना है। मान्यता है कि लव लाइफ के स्ट्रेस को खत्म करने के लिए फेंगशूई के कई तरह के उपाय किए जाते हैं जिससे प्रेम संबंध और भी प्रगाढ़ हो सकते हैं। हालांकि, इनका कोई वैज्ञानिक आधार है। लेकिन लोगों की इन पर मान्यता है। तो आइए जानते हैं इन उपायों के बारे में।

1. अगर ऊंट की फोटो या प्रतिमा को घर में रखना चाहिए। इसे फेंगशूई में काफी लकी माना गया है। यह एनिमल कठिन से कठिन परिस्थिति में भी काम करता रहता है। यही कारण है कि इसे शुभ माना जाता है। यह लव लाइफ में कई परेशानियों को सुधारने में मदद करता है।

2. फेंगशुई के अनुसार, अगर लव लाइफ अच्छी न चल रही हो तो घर में ऊंट रखना चाहिए। साथ ही अपने पार्टनर को भी इसे गिफ्ट करें। हालांकि, ध्यान रखने वाली बात यह है कि जब भी इन्हें गिफ्ट करें तो जोड़े में ही करें यानी क‍ि दो ऊंट या फिर ऊंट के जोड़ों वाली तस्‍वीर। इससे आपसी प्यार बढ़ता है।

 

3. हिंदू धर्म में जिस तरह से कुबेर को धन का देवता कहा जाता है। ठीक उसी तरह फेंगशूई में ऊंट को माना जाता है। यह तरक्की का सूचक होता है। अगर ऊंट की मूर्ति या तस्वीर को दुकान में लगाया जाए तो इससे शुभता के दरवाजे खुल जाते हैं।

4. अगर घर में जोड़े वाले पक्षियों की तस्वीर लगाई जाए तो बेहतर होता है। अपने बेड को कभी भी खिड़की के सामने न लगाएं। ऐसा करने से रिश्तों में तनाव आ जाता है। अगर ऐसा संभव न हो तो अपने सिरहाने और खिड़की के बीच पर्दा लगा लें। इससे मैरिड लाइफ से नकारात्मकता दूर रहती है।

 

5. कई बार ऐसा होता है कि आपका पार्टनर आए दिन दुर्घटनाओं का श‍िकार होता रहता है ऐसे में फेंगशूई के अनुसार घर में ऊंट लगाना चाहिए। इससे इस तरह की समस्याओं से राहत मिल जाती है। इससे सेहत में धीरे-धीरे सुधार होता है।

डिसक्लेमर

‘इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।’

Related posts

भोपाल में मिला कोरोना डेल्टा प्लस का पहला मामला

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 दिसंबर को देश के किसानों को संबोधित करेंगे

सार्वजनिक जगहों पर नहीं मनाई जाएगी होली

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News