मेरठ दर्पण
Breaking News
लखनऊ

कासगंज में शराब माफिया ने की कुर्की का नोटिस लेकर गए सिपाही की हत्या

भालाकासगंज में शराब माफिया ने पीटकर कांस्टेबल की हत्या कर दी, जबकि सब इंस्पेक्टर गंभीर हैं

कासगंज के गंगा की कटरी में स्थित गांव नगला धीमर में दारोगा अशोक कुमार सिंह व सिपाही देवेंद्र कुमार मंगलवार शाम शराब माफिया मोतीराम की कुर्की का नोटिस चस्पा करने गए थे। वहां माफिया ने दोनों को घेर लिया और एक पेड़ से बांधकर जमकर पीटा।

उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले में मंगलवार गेर शाम शराब माफिया ने दुस्साहसिक वारदात को अंजाम दिया। कुर्की के लिए नोटिस चस्पा करने गए दारोगा अशोक कुमार सिंह और सिपाही देवेंद्र कुमार को शराब माफिया मोतीराम ने पकड़ लिया। इस दौरान पीट-पीटकर सिपाही को मौत के घाट उतार दिया गया, जबकि दारोगा की हालत गंभीर बनी हुई है। दोनों गांव से डेढ़ किलोमीटर दूर खेत में बंधक मिले हैं। दारोगा पर भाला से हमला किया गया है, जबकि सिपाही के सिर पर भी वार किया गया। देर रात कई थानों की फोर्स के साथ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। अधिकारी समन तामील के लिए रवानगी की भी बात कह रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कासगंज की घटना को गंभीरता से लिया है। उन्होंने दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने दोषी के खिलाफ एनएसए के तरह कार्रवाई के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अपराध और अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति पर कार्य कर रही है। कानून व्यवस्था के संबंध में किसी भी प्रकार का समझौता न करते हुए दोषियों के विरुद्ध अविलम्ब व सख्त कार्रवाई की जाए। सीएम योगी ने जान गंवाने वाले कांस्टेबल के परिवार को 50 लाख रुपये की सहायता और सरकारी नौकरी की घोषणा की है। उन्होंने घटना में घायल पुलिसकर्मी के उचित उपचार के निर्देश दिए हैं।

कासगंज जिला मुख्यालय से करीब 45 किलोमीटर दूर गंगा की कटरी में स्थित गांव नगला धीमर में दारोगा अशोक कुमार सिंह व सिपाही देवेंद्र कुमार मंगलवार शाम शराब माफिया मोतीराम की कुर्की का नोटिस चस्पा करने गए थे। वहां माफिया ने दोनों को घेर लिया और एक पेड़ से बांधकर जमकर पीटा। इसके बाद माफिया व ग्रामीण दोनों को डेढ़ किलोमीटर दूर खेत पर ले गए। वहां भी दोनों की पिटाई की, वर्दी भी फाड़ दी।

 

पटियाली के सीओ गवेंद्र पाल गौतम सूचना मिलने पर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। घटना की गंभीरता को देखते हुए जिले के कई थानों की फोर्स को बुलाया गया। पुलिस को दोनों खेत में बंधक मिले। अस्पताल लाने तक सिपाही की मृत्यु हो गई, जबकि दारोगा की हालत गंभीर बनी हुई है। आइजी पीयूष मोडिया ने बताया कि पुलिसकर्मी जहरीली शराब के एक मामले में कुर्की पूर्व नोटिस चस्पा करने गए थे। वहां दोनों को बंधक बना लिया।

दारोगा से दूर मिला सिपाही : पुलिस को दारोगा एक खेत में मिले, उनकी बाइक के अलावा एक अन्य बजाज प्लेटिना बाइक भी मिली है। दारोगा की वर्दी जूते भी पास ही पड़े थे। लगभग आधा घंटे बाद सिपाही भी एक गेहूं के खेत में गंभीर हालत में मिला। यहां पुलिस को शराब की भट्टी का सामान बिखरा पड़ा मिला है।

पुलिसकर्मियों के असलाह गायब : पुलिस को देर रात तक दारोगा व सिपाही का असलाह नहीं मिले हैं। दोनों की थाने से रवानगी असलाह के साथ ही हुई थी। देर रात तक पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है।

 

आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास : एडीजी आगरा अजय आनंद ने बताया कि गांव वालों ने दारोगा व सिपाही को बंधक बना लिया। पिटाई से सिपाही की मृत्यु हो गई है, जबकि दारोगा की हालत गंभीर बनी हुई है। आसपास के थानों की पुलिस गांव पहुंच गई है। आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

Related posts

आरटीपीसीआर, एंटीजन टेस्ट, ट्रूनाॅट व एच0आर0 सीटी स्कैन की जांच की शासन ने निर्धारित की दर-जिलाधिकारी

कुल 2.27 करोड़ मतदाता कल करेंगे मतदान -EC

कम हो रहे हैं कोरोना के मामले, जल्द ही हो सकता है लेखपाल भर्ती के लिए मुख्य परीक्षा का आयोजन

Ankit Gupta

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News