मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठ

हर गांव और कस्बे में हो ईलाज की व्यवस्था, सभी जिलो में बनायी जायेगी आधुनिक टेस्टिंग लैब- प्रधानमंत्री

जनपद के शहीद स्मारक में हुआ चौरी चौरा शताब्दी समारोह का भव्य शुभारम्भ, निकाली गयी प्रभात फेरी

प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से किया आमजन को संबोधित

 

मेरठ – भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की प्रेरणादायी जनक्रान्ति चौरी चौरा आंदोलन के 100वें वर्ष में प्रवे के अवसर पर चौरी चौरा शताब्दी समारोह का शुभारम्भ राजकीय स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय शहीद स्मारक में किया गया। इस अवसर पर जनप्रतिनिधियों व वरिष्ठ प्रासनिक अधिकारियों ने स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों व उनके परिजनो को सम्मानित किया, राष्ट्र गीत का गायन हुआ व देभक्ति के गीतो की मनमोहक प्रस्तुति की गयी। वहीं प्रधानमंत्री के उद्बोधन व गोरखपुर में आयोजित कार्यक्रम से मुख्यमंत्री के उद्बोधन का सीधा प्रसारण किया गया। राज्यपाल महोदया की भी वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से गरिमामयी उपस्थिति रहीं।


प्रधानमंत्री ने चौरी चौरा आंदोलन की स्मृति में रू0 पांच का डाक टिकट जारी किया तथा मुख्यमंत्री ने लोगो जारी किया। कार्यक्रम में संस्कृति विभाग के चौरी चौरा गीत की प्रस्तुति व सूचना विभाग के चौरी चौरा आंदोलन पर बनायी गयी डाक्यूमेन्ट्री फिल्म का प्रस्तुतीकरण भी किया गया। वहीं मेरठ में विधायक मेरठ कैंट सत्य प्रका अग्रवाल, आयुक्त व जिलाधिकारी ने शहीद भगत सिंह जी की प्रतिमा के सम्मुख माल्यार्पण व पुष्प अर्पित कर अमर शहीदो को नमन किया।
प्रधानमंत्री ने कहा कि चौरी चौरा की जितनी चर्चा होनी चाहिए थी उतनी नहीं हुयी। उन्होने कहा कि सामूहिकता की जिस शक्ति से दे गुलामी की जंजीरो से मुक्त होकर स्वतंत्र हुआ। उन्होने कहा कि सामूहिकता में बडी शक्ति होती है। उन्होने कहा कि आत्मनिर्भर भारत का मूल आधार सामूहिकता है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना काल खंड में दे ने आत्मनिर्भरता की मिसाल देते हुये 150 देो में दवाईयां आदि सामग्री भेजी। 50 लाख भारतीय को स्वदे लाये तथा अनेको विदेायो को उनके दे भेजा गया। उन्होने कहा कि भारत ने कोरोना वैक्सीन बनायी। उन्होने कहा कि मानव जीवन की सेवा सर्वोपरि है। उन्होने कहा कि चौरी चौरा आंदोलन की स्मृति व अमर शहीदो के बलिदानो को याद करने से व स्वतंत्रता आंदोलन से भावनात्मक रूप से जुडने से गर्व महसूस होगा।


प्रधानमंत्री ने कहा कि गत केन्द्रीय बजट में आमजन को बडी राहत दी गयी है। उन्होने कहा कि हर गांव और कस्बे में ईलाज की व्यवस्था हो इस पर कार्य किया जा रहा है। उन्होने कहा कि दे के सभी जिलो में आधुनिक टेस्टिंग लैब बनायी जायेगी। उन्होने कहा कि गत बजट में स्वास्थ्य बजट में काफी बढोत्तरी की गयी है।
उन्होने कहा कि चौरी चौरा आंदोलन में किसानो का भी योगदान रहा है। उन्होने कहा कि किसान साक्त, स्वावलंबी व आत्मनिर्भर बने इस पर कार्य किया जा रहा है। उन्होने कि एक हजार और मंडियो को ई-नेम से जोडा जायेगा। उन्होने कहा कि गत बजट में ग्रामीण क्षेत्र में इन्फ्रास्ट्रक्चर कार्य कराने में रू0 40 हजार करोड की व्यवस्था की गयी है। उन्होने कहा कि दे का किसान आत्मनिर्भर बनेगा। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से भी किसानो को लाभ होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दे का सम्मान सर्वोपरि है। उन्होने शहीदो को नमन करते हुये कहा कि उन्होने अपने प्राण दे की स्वतंत्रता के लिए दिये। इसलिए हम सभी दे के लिए जीने का संकल्प लें और उनके सपनो का भारत बनाये। उन्होने कहा कि शताब्दी समारोह वर्ष सपनो का साकार करने का वर्ष व जन जन की भलाई के लिए जुटने का वर्ष होना चाहिए।
मुख्यमंत्री ने गोरखपुर में आयोजित कार्यक्रम के सीधे प्रसारण के दौरान प्रदेवासियो से कहा कि स्वाधीनता के लिए चौरी चौरा आंदोलन एक अमूल्य संघर्ष था। उन्होने कहा कि शताब्दी समारोह के भव्य आयोजन के लिए आयोजन समिति प्रदे स्तर पर गठित की गयी जिसकी अध्यक्षा राज्यपाल महोदया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि चौरी चौरा आंदोलन में तीन स्वतंत्रता संग्राम सैनानी शहीद हुये, 228 पर मुकदमा चलाया गया जिसमें 225 को सजा हुयी, इसमें 19 को मृत्युदंड, 14 को आजीवन कारावास, 19 को 08 वर्ष का कारावास, 57 को 05 वर्ष का कारावास, 30 को 03 वर्ष का कारावास तथा 03 को 02 वर्ष के कारावास की सजा हुयी। उन्होने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री जी के मार्गर्दान में दे आत्मनिर्भर भारत बनने की ओर अग्रसर है। उन्होने मा0 प्रधानमंत्री जी का आभार जताया व उनका अभिनंदन किया। उन्होने कहा कि हम सभी को अमर शहीदो के आर्दा पर चलना चाहिए।


आयुक्त अनीता सी0 मेश्राम ने कहा कि वर्ष 1857 में स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन मेरठ की धरती से प्रारंभ हुआ। वर्ष 1947 में दे आजाद हुआ। इसके मध्य अनेको महत्वपूर्ण घटनाएं व आंदोलन हुये जिसमें चौरी चौरा आंदोलन अपने आप में महत्वपूर्ण है। उन्होने कहा कि दे चौरी चौरा आंदोलन के 100 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर शताब्दी समारोह मनाया जा रहा है।
जिलाधिकारी के0 बालाजी ने जनप्रतिनिधियो, स्वतंत्रता संग्राम सैनानियो व उनके परिजनो व आमजन का आभार व्यक्त किया तथा कहा कि मई में मई दिवस मनाया जायेगा तथा शहीद स्मारक पर साउण्ड एंड लाईटिंग पर कार्य चल रहा है। उन्होने बताया कि 04 फरवरी 2021 से 04 फरवरी 2022 की अवधि में चौरी चौरा शताब्दी महोत्सव पूरे प्रदे में मनाया जायेगा। इस दौरान अनेको कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। उन्होने बताया कि चौरी चौरा आंदोलन 04 फरवरी 1922 को हुआ था।
मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन ने बताया कि कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सैनानी श्री वेद पाल व श्री अमर नाथ गुप्ता व स्वतंत्रता संग्राम सैनानियों के परिजनो में दिने चन्द्र जैन, राजीव कुमार गर्ग, रामरतन रस्तौगी, दिपेन्द्र कुमार जैन, भूदेव शर्मा, एस0सी0 कोठारी, प्रेमलता दीवान, नीता शर्मा, साजिद, रमेश चन्द्र, कृष्णा कालरा, महे कुमार गुप्ता, सुखवीर सिंह, विमल किोर, उदयवीर, इंदु कपूर, मनीष कुमार वर्मा को शॉल व पौधा भेंट कर सम्मानित किया गया। स्वतंत्रता संग्राम सैनानियो के आश्रितो में श्रीमती महेन्द्र कुमारी, श्रीमती मनभरी, श्रीमती सरोज देवी, श्रीमती चन्द्रवती को भी शॉल व पौधा भेंट कर सम्मानित किया गया।


मुख्य विकास अधिकारी ईशा दुहन ने बताया कि कार्यक्रम में वीर चक्र, कीर्ति चक्र से सम्मानित शहीदो की वीर नारियों को सम्मानित किया गया। सम्मान पाने वालो में वर्ष 2000 में मरणोपरान्त वीर चक्र से सम्मानित सीएचएम यावीर सिंह की धर्मपत्नी/वीर नारी श्रीमती मुने देवी, वर्ष 1987 में मरणोपरान्त कीर्ति चक्र से सम्मानित सैपर अजमेर अली की धर्मपत्नी/वीर नारी श्रीमती अबरी खातून, वर्ष 2002 में मरणोपरान्त कीर्ति चक्र से सम्मानित लांस नायक सोहनवीर की धर्मपत्नी/वीर नारी श्रीमती प्रभा देवी, वर्ष 1993 में मरणोपरान्त शौर्य चक्र से सम्मानित सिपाही देवेन्द्र कुमार की धर्मपत्नी/वीर नारी श्रीमती सुनीता देवी व वर्ष 2003 में मरणोपरान्त शौर्य चक्र से सम्मानित नायक अनिल कुमार की धर्मपत्नी/वीर नारी श्रीमती सविता देवी को शॉल व पौधा भेंट कर सम्मानित किया गया।
इससे पूर्व जिलाधिकारी के0 बालाजी ने सनातन धर्म इंटर कालेज से प्रभात फेरी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। प्रभात फेरी विभिन्न स्थलों से होते हुये शहीद स्मारक पर समाप्त हुयी। इसमें विभिन्न प्रशासनिक अधिकारी, स्कूली छात्र-छात्राएं, गणमान्य लोग, विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि आदि उपस्थित रहे।
कार्यक्रम में गुरू नानक गर्ल्स इंटर कालेज की छात्राओं द्वारा राष्ट्रगीत की मनमोहक प्रस्तुति दी गयी तथा दृष्टिबाधित संगीता द्वारा ऐ मेरे वतन के लोगो गीत व सत्यम शिवम सुन्दरम गीत की भाव विभोर करने वाली मनमोहक प्रस्तुति दी गयी।
इस अवसर पर विधायक सत्य प्रका अग्रवाल, विधायक सोमेन्द्र तोमर, अपर जिलाधिकारी वित्त सुभाष चन्द्र प्रजापति, नगर अजय तिवारी, नगर मजिस्ट्रेट एस0के0 सिंह, सांसद प्रतिनिधि हर्ष गोयल, करूणे नंदन गर्ग सहित स्वतंत्रता संग्राम सैनानी व उनके परिजन, स्कूल छात्र-छात्राएं, अधिकारीगण, विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि व आमजन उपस्थित रहे।

Related posts

भारतीय किसान यूनियन का धरना लगातार 55वें दिन सिवाया टोल प्लाजा मेरठ पर जारी रहा ।

शोभित विश्वविद्यालय के 13वे दीक्षांत समारोह में केंद्रीय मंत्री परसोत्तम रुपाला जी ने छात्र छात्राओं को दी उपाधियां

Ankit Gupta

विश्व शान्ति एवं स्वास्थ्य की मंगलकामना के साथ वेंक्टेश्वरा में न्यू ईयर पार्टी ’’शुभारम्भ-2021’’ का धमाल

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News