मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठ

सुभारती विश्वविद्यालय में चौरी चौरा शताब्दी समारोह आयोजित

मेरठ। स्वामी विवेकानन्द सुभारती विश्वविद्यालय के शिक्षा संकाय के भव्य प्रांगण में उत्तर प्रदेश शासनादेश के अनुपालन में चौरी चौरा शताब्दी समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ फाईन आर्ट कॉलिज के विद्यार्थियों ने वंदेमातरम गायन एवं देशभक्ति गीत सुनाकर किया।

सुभारती विश्वविद्यालय के कुलपति ब्रिगेडियर डा.वी.पी. सिंह ने विद्यार्थियों को जारी संदेश में कहा कि चौरी चौरा घटना को कभी भूलना नही चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने शताब्दी समारोह द्वारा शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि देने का पुनीत कार्य किया है। उन्होंने बताया कि सुभारती विश्वविद्यालय में पूर्व से ही हर माह विभिन्न महापुरूषों एवं शहीदों के जन्मदिवस व पुण्यतिथि को सुभारती दिवस के रूप में मनाया जाता है जिसमें सभी विद्यार्थियों को उनके बलिदान से अवगत कराकर उनके प्रेरणा दिलाई जाती है। उन्होंने चौरी चौरा की घटना में शहीद हुए क्रान्तिकारियों को नमन करते हुए उनसे प्रेरणा लेकर सभी से देशहित में कार्य करने की अपील की।

सुभारती विश्वविद्यालय की मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा.शल्या राज ने कहा कि आज का दिन चौरी चौरा में मॉ भारती की रक्षा हेतु अपने प्राणों को निछावर करने वाले शहीदों को नमन करने का दिन है। उन्होंने भारत सरकार के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी एवं उत्तर प्रदेश सरकार के माननीय यशस्वी मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी को बधाई देते हुए कहा कि सरकार ने शहीदों के सम्मान में शताब्दी वर्ष आयोजित करके ऐतिहासिक गौरवान्वित कार्य किया है। उन्होंने कहा कि इसी परिपेक्ष में सुभारती विश्वविद्यालय विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करता आ रहा है जिसमें सबसे प्रमुख अखण्ड भारत का स्वतंत्रता दिवस समेत 30 दिसम्बर आजाद हिन्द ध्वजारोहण कार्यक्रम शामिल है। उन्होंने कहा कि शताब्दी समारोह के अंतर्गत सुभारती विश्वविद्यालय के सभी संकायों एवं विभागों में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे एवं शहीदों को याद कर उन्हें नमन करके देशहित में कार्य करने की विद्यार्थियों को प्रेरणा दिलाई जाएगी।

समारोह के मुख्य वक्ता इतिहासकार एवं सुभारती पत्रकारिता संकाय के प्रोफेसर अशोक त्यागी ने विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज का दिन शहीदों को नमन करते हुए उनसे प्रेरणा लेने का दिन है। उन्होंने गोरखपुर के चौरी चौरा गांव में आज ही के दिन 1922 में अंग्रेजों का विरोध करने पर क्रान्तिकारियों पर गोलियां बरसाने एवं उन्हें फांसी देने की घटना के बारे में सभी को विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि चौरी चौरा की घटना को इतिहास में प्रमुखता से जगह नही दी गई है जिससे भारत की स्वतंत्रता में बलिदान देने वाले असंख्या शहीदों को भूला दिया गया लेकिन सुभारती विश्वविद्यालय इतिहास की सच्चाई को उजागर करने का कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि इतिहास कभी छुपाया नही जा सकता है एवं बलिदान कभी व्यर्थ नही जाता है। उन्होंने कहा कि शहीद भगत सिंह, अशफ़ाक़उल्ला खान, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस समेत असंख्य स्वतंत्रता के वीरों के बलिदानों को आत्मसात करने की आवश्यकता है इसके लिये सुभारती विश्वविद्यालय अपने विद्यार्थियों में महापुरूषों के संस्कार रोपित कर रहा है।

कार्यक्रम के नोडल अधिकारी, संस्कृति विभागाध्यक्ष डा. विवेक संस्कृति ने अपने संबोधन में कहा कि सुभारती विश्वविद्यालय अपने महापुरूषों के संस्कार एवं शहीदों के बलिदान को संरक्षित करने का कार्य कर रहा है। उन्होंने चौरी चौरा घटना के बारे में बताया कि इस पूरे प्रकरण में 172 भारतीयों को आरोपी बनाया गया था और इसमें क्रांतिकारियों की ओर से मुकदमा पंडित मदन मोहन मालवीय ने लड़ा था। जिसमें 19 भारतीय अब्दुल्ला, भगवान, विक्रम, दुदही, काली चरण, लाल मुहम्मद, लौटी, मादेव, मेघू अली, नजर अली, रघुवीर, रामलगन, रामरूप, रूदाली, सहदेव, सम्पत पुत्र मोहन, संपत, श्याम सुंदर व सीताराम को इस घटना के लिए फांसी दी गई थी। उन्होंने इस अवसर पर चौरी चौरा घटना पर कविता लिखकर प्रदेश के माननीय यशस्वी मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के कार्यालय में प्रेषित की।

मंच का कुशल संचालन पत्रकारिता संकाय के प्राचार्य डा. नीरज कर्ण सिंह ने किया। उन्होंने शताब्दी समारोह के बारे विद्यार्थियों को अवगत कराते हुए देशभक्ति से परिपूर्ण कविता सुनाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

इस मौके पर शिक्षा संकाय के डीन डा. संदीप कुमार, शिक्षा संकाय के विभागाध्यक्ष डा. अनोज राज, फाईन आर्ट कॉलिज के प्राचार्य डा. पिन्टू मिश्रा, डा. भावना ग्रोवर, डा. संतोष शर्मा, मीडिया प्रभारी अनम शेरवानी, रमेशचन्द्र, छात्रा आलिया, आलिमा, रजत समेत विभिन्न संकायों एवं विभागों के शिक्षकगण व विद्यार्थीं उपस्थित रहे।

Related posts

’’निशुल्क रक्तदान शिविर’’ में 142 लोगो ने रक्तदान कर लोगो के जीवन बचाने की ली शपथ

Ankit Gupta

आयुक्त ने की स्मार्ट सिटी, सेफ सिटी सहित महत्वपूर्ण परियोजनाओं की समीक्षा

मेरठ- घर में घुसा तेंदुआ, जाल से निकल कर भागा

Ankit Gupta

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News