मेरठ दर्पण
Breaking News
लखनऊ

उत्तर प्रदेश में बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट

लखनऊ- उत्तर प्रदेश में भी में बर्ड फ्लू की दस्तक के बीच योगी आदित्यनाथ सरकार ने हाई अलर्ट जारी किया है। कानपुर के चिड़ियाघर में बर्ड फ्लू का मामला सामने आने के बाद चिड़ियाघरको बंद कर दिया गया है जबकि लखनऊ के चिड़ियाघर के साथ दुधावा टाइगर रिजर्व में काफी सतर्कता बरती जा रही है।

देश में बर्ड फ्लू का संक्रमण केरल, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा तथा गुजरात के साथ उत्तर प्रदेश में भी मिलने के बाद सरकार हाई अलर्ट पर है। महाराष्ट्र के साथ ही उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों में बीते एक हफ्ते से बड़ी संख्या में पक्षियों की मौत हो रही है। इनमें की सर्वाधिक संख्या कौआ की है। माना जा रहा है कि कौआ इन दिनों बर्ड फ्लू के चपेट में आने के कारण मर रहे हैं।

कानपुर में बर्ड बर्ड फ्लू का पहला केस:

उत्तर प्रदेश में बर्ड फ्लू का पहले केस कानपुर के चिड़ियाघर में मिला है। यह केस सामने आने के बाद चिड़ियाघर को अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया गया है। कानपुर के चिड़ियाघर में रेड जंगल फाउल प्रजाति के मृत मिले मुर्गों की मौत बर्ड फ्लू से होने की पुष्टि हो गई है। यह बर्ड फ्लू से मौत का प्रदेश का पहला पुष्ट मामला है। इसकी पुष्टि नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाई सिक्योरिटी एनीमल डिसीजेस भोपाल से होने के बाद शनिवार रात अफसरों ने चिड़ियाघर के सभी बाड़ों को बंद करा दिया है। इसके साथ चिड़ियाघर को दर्शकों के लिए अनिश्चितकाल तक बंद रखने का फैसला लिया गया है। चिड़ियाघर में बुधवार को सात मुर्गे मरे मिले थे। गुरुवार को तीन और की मौत हो गई। इनमें से दो मुर्गों का क्वैकल स्वैब (आंतरिक भाग का नमूना) जांच के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाई सिक्योरिटी एनीमल डिसीजेस भोपाल भेजा गया था। दोनों जंगली मुर्गों में बर्ड फ्लू एच-5 की पुष्टि हुई है। इसके साथ एहतियातन यहां पर सभी पक्षियों को मारने का भी आदेश दिया गया है। अब चिड़ियाघर का एक किलोमीटर का दायरा कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। इसके साथ चिड़ियाघर के दस किमी के दायरे में मांस की दुकानों को भी बंद करा दिया गया है।

 

लखनऊ जू का बर्ड सेक्शन बंद:

बर्ड फ्लू के बढ़ते प्रकोप के कारण लखनऊ चिड़ियाघर का बर्ड सेक्शन दर्शकों के लिए बंद कर दिया गया है। बर्ड हाउस के पास भी लोगों के जाने पर रोक लगा दी गई है। चिड़ियाघर के निदेशक आरके सिंह ने कहा कि पक्षियों में किसी भी तरह के लक्षण दिखने पर उन्हेंं तुरंत आइसोलेट किया जा रहा है। निदेशक आरके सिंह ने कहा कि बर्ड फ्लू की आशंकाओं को देखते हुए एहतियातन चिड़िया के बाड़े के साथ बत्तख के पौंड को बंद कर दिया गया है।

Related posts

मौसम विभाग का अगले तीन दिन बारिश और कड़ाके की ठंड का अलर्ट

मुख्यमंत्री से मिले संजीव गोयल सिक्का

कोरोना कर्फ्यू को लेकर नई गाइडलाइन,इन जिलों में नही मिली राहत

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News