मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठस्वास्थ्य

सुभारती अस्पताल ने गर्भवती महिला को वेंटिलेटर से वापस लाकर दिया जीवनदान

मेरठ। देश के प्रतिष्ठित अस्पताल छत्रपति शिवाजी सुभारती अस्पताल के डाक्टरों ने सेवाभाव का उत्कर्ष उदाहरण प्रस्तुत करते हुए गम्भीर अचेत स्थिति में भर्ती हुई एक गर्भवती महिला को वेंटिलेटर पर जाने के बाद सर्वश्रेष्ठ उपचार देकर जीवनदान दिया है।

सुभारती अस्पताल के चिकित्सा उपाधीक्षक डा. कृष्णा मूर्ति ने बताया कि लगभग दस दिन पूर्व नौ माह की गर्भवती महिला अचेत अवस्था में सुभारती अस्पताल के आपातकालीन कक्ष में रेफेर होकर भर्ती हुई। जहां डाक्टरों ने महिला का निरक्षण करने के बाद तुरन्त आईसीयू यूनिट में स्थानांतरित किया। इस दौरान महिला का रक्तचाप बहुत कम था और शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा लगातार कम हो रही थी। नौ महीने की गर्भवती होने के बावजूद स्थिति लगातार गंभीर बनने लगी जिसमें अचेत अवस्था के दौरान ही महिला को दो बार हार्ट अटेक भी आ गया। ईसीएचओ से महिला का हृदय मात्र 20 प्रतिशत ही कार्य कर रहा था। इस पर डाक्टरों ने पूरी मेहनत करते हुए सुभारती अस्पताल में मौजूद विश्वस्तरीय आधुनिक तकनीक एवं वेंटिलेटर की सहायता से महिला को उपचार दिया। जिसमें डाक्टरों की कड़ी मेहनत के बाद महिला गंभीर स्थिति से सामान्य हुई। उपचार के दौरान किये गये अल्ट्रासाउंड में भू्रण की हृदय गति नहीं आई जिसपर स्त्री रोग विभागाध्यक्ष डा.ममता त्यागी और प्रसूति विभाग की टीम ने सर्जिकल ऑपरेशन के माध्यम से मृतक हो चुके भु्रण को निकाले का निर्णय लिया ताकि महिला की जान बचाई जा सकें। सफलतापूर्वक सर्जरी के बाद मृत बच्चे को माँ के गर्भ से निकाल दिया गया इसके उपरान्त महिला को शल्य गहन चिकित्सा इकाई में स्थानांतरित कर दिया गया जहां वेंटिलेटर के साथ अन्य जीवन रक्षक दवाओं की मदद से महिला की जान बचाई जा सकीं। एक साथ कई समस्या होने पर अस्पताल के सम्बन्धित विभिन्न विभाग के डाक्टरों जिसमें विशेष रूप एनेस्थीसिया एवं क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ डा. उमर नौशाद ने संपूर्ण उपचार के दौरान रोगी पर विशेष निगरानी रखी और अपने चिकित्सीय अनुभव से रोगो को सामान्य करने में बड़ी भूमिका निभाई। वेंटिलेटर की स्थिति के दौरान ही दो बार हार्ट अटेक आने के बावजूद डाक्टरों ने महिला की जान बचाई है यह उपचार के दौरान सबसे विशेष चरण रहा जिसमें सुभारती अस्पताल के अनुभवी डाक्टर एवं विश्वस्तरीय आधुनिक तकनीक का महत्वपूर्ण सहयोग रहा। डा. कृष्णा मूर्ति ने एनेस्थीसिया एवं क्रिटिकल केयर डाक्टर उमर नौशाद सहित समस्त डाक्टरों की टीम को बधाई देते हुए रोगी व उसके परिजनों को अपनी शुभकामनाएं दी।

सुभारती अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा.जे.पी सिंह ने कहा कि सुभारती अस्पताल में रोगियों का उपचार सेवाभाव एवं मानवीय संवेदनाओं के साथ किया जाता है। उन्होंने बताया कि सुभारती अस्पताल में दिल्ली-मुम्बई जैसे बड़े अस्पतालों की भांति विश्वस्तरीय आधुनिक तकनीक एवं सुविधाएं 24 घंटे उपलब्ध है जो चिकित्सीय सेवाओं को सर्वसुलभ बनाकर जनमानस को लाभान्वित कर रही है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार गंभीर स्थिति की महिला रोगी को वेंटिलेटर से वापस लाकर जान बचाई गई है यह बड़े गर्व की बात है। उन्होंने समस्त डाक्टर एवं रोगी को अपनी शुभकामनाएं दी।
इस अवसर एनेस्थीसिया एवं क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ डा. उमर नौशाद, डा. मणिवी आदि का विशेष सहयोग रहा।

Related posts

शोभित विश्वविद्यालय मेरठ में इन्नोवेशन एवं स्टार्टअप इकोसिस्टम पर राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन

Ankit Gupta

मेरठ से हवाई उड़ान का रास्ता हुआ साफ

Mrtdarpan@gmail.com

जिलाधिकारी ने किया पराग डेयरी गंगोल का निरीक्षण

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News