मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठशिक्षा

सुभारती विश्वविद्यालय के शिक्षा संकाय में नई शिक्षा नीति पर वेबिनार का आयोजन

मेरठ। स्वामी विवेकानंद सुभारती विश्वविद्यालय के शिक्षा विभाग द्वारा समग्र एनजीओ के संयुक्त तत्वाधान में वेबिनार का आयोजन किया गया। वेबिनार का विषय ‘‘नई शिक्षा नीति के बारे में लोगों को जागरूक करना और भारतीय शिक्षा में इसका कार्यान्वयन और भविष्य‘‘ रहा। कार्यक्रम का शुभारम्भ शिक्षा संकाय के संकायाध्यक्ष डा. संदीप कुमार द्वारा किया गया। जिन्होंने सभी उपस्थित शिक्षाविदों का हार्दिक स्वागत किया तथा वेबिनार के विषय से सभी को अवगत कराया। वेबिनार की संचालिका श्वेता पाठक रही जिन्होंने सभी अतिथियों का वेबिनार में स्वागत करते हुए सुभारती विश्वविद्यालय के कुलपति ब्रिगेडियर डा. वी.पी. सिंह को आमंत्रित किया तथा कुलपति ने नई शिक्षा नीति पर होने वाले आयोजन की संकाय अध्यक्ष को बधाई दी और सफल वेबिनार के आयोजन की शुभकामनाएं प्रदान करते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति शिक्षा के क्षेत्र में अधिक ऊर्जा देगी जिससे विद्यार्थिंयों के जीवन में बदलाव भी आएंगा एवं उनका ज्ञान वर्धन भी होगा। उन्होंने कहा कि शिक्षा हमारे लिए बहुत जरूरी है ताकि हमारे आने वाले जीवन में कोई तकलीफ न हो शिक्षा किसी राष्ट्र अथवा समाज की प्रगति का मापदंड है। जो राष्ट्र शिक्षा को जितना अधिक प्रोत्साहन देता है वह उतना ही विकसित होता है। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति में भावी पीढ़ी को लक्ष्य के अनुसार मानसिक एवं बौद्धिक रूप से तैयार किया जा सकेंगा जो देश के विकास की सूत्रधार बनेंगी।

विश्वविद्यालय की मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा.शल्या राज ने वेबिनार को सम्बोधित करते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति से विद्यार्थियों का सर्वांगीण विकास होगा एवं उनमें दक्षता पैदा होगी। उन्होंने कहा कि सुभारती विश्वविद्यालय पहले से ही अपने विद्यार्थियों के चरित्र निमार्ण एवं उनके संपूर्ण विकास हेतु प्रतिबद्ध है जिसमें शिक्षा के साथ विद्यार्थियां को सेवा एवं संस्कार तथा राष्ट्रीयता की भावना को रोपित किया जाता है ताकि विद्यार्थी योग्य बन कर देश निर्माण में अपना सहयोग दे सकें। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति 2020 को समावेशी और जीवंत बनाने के लिए सुभारती विश्वविद्यालय प्रतिबद्ध हैं और माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  के नेतृत्व में भारत को ज्ञान आधारित महाशक्ति बनाने के लिए कृत संकल्पित हैं।
मुख्य अतिथि डॉ कुलदीप चंद्र अग्निहोत्री कुलपति सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ़ हिमाचल प्रदेश द्वारा नई शिक्षा नीति पर प्रकाश डाला गया जिसमें उन्होंने बताया कि नई शिक्षा नीति के द्वारा हमारी बुनियादी शिक्षा में परिवर्तन हुआ है जिसमें शिक्षा को सर्वसुलभ बनाने पर अधिक जोर दिया गया है। उन्होंने बताया कि नई शिक्षा नीति के माध्यम से शिक्षा व ज्ञान के प्रचार और प्रसार के लिए आकाशवाणी, दूरदर्शन, इंटरनेट, कम्प्यूटर इत्यादि नये और उपयुक्त साधनों का प्रयोग व्यापक स्तर पर किया गया है। जो देश में शिक्षा के स्तर में अधिक सुधार लाएंगे।
एडवोकेट सुधीर अग्रवाल द्वारा नई शिक्षा नीति की सराहना करते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति आने वाले भविष्य में विद्यार्थियों को बहुत लाभ प्रधान करेगी एवं विद्यार्थियों के ज्ञान में वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि शिक्षा नीति के द्वारा हम अपने समय के समाज और राष्ट्र की आवश्यकताओं को पूर्ण रूप से सार्थक सिद्ध करने के लिए कुछ अपेक्षित मानसिक और बौद्धिक जागृति को तैयार करने लगते हैं।
शिक्षा संकाय के संकायाध्यक्ष डा. संदीप कुमार ने बताया कि वेबिनार के आयोजन का मुख्य उद्देश्य यहीं है कि भारत सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में नये विकास करने से सम्बन्धि किये गये बदलाव से सभी को रूबरू कराया जाए। उन्होंने बताया कि नई शिक्षा नीति में तकनीक के साथ कौशल विकास एवं ज्ञान का करने के सम्बन्ध में जोर दिया गया है और भविष्य में इसकी क्या सम्भावनाएं है इन तमाम बिन्दुओं पर वेबिनार में विशेषज्ञों द्वारा चर्चा की गई है।
प्रोफेसर जी के अरोड़ा एवं प्रोफेसर सुरेश पचोरी द्वारा नई शिक्षा नीति के बारे में एवं इसके लाभ के बारे में उन्होंने सभी का ज्ञान वर्धन किया।
धन्यवाद ज्ञापन शिक्षा संकाय के एचओडी डा. अनुज राज द्वारा किया गया। जिसमें उनके द्वारा सभी शिक्षाविदों व उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों व प्रोफेशनल, टीचर्स आदि को धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

Related posts

पत्रकार की हत्या करने वालो पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जाए:अजय चौधरी

केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी से मिले विधायक सोमेन्द्र तोमर, मेरठ के विकास पर की चर्चा

सुभारती विश्वविद्यालय में गौरव की अनुभूति के साथ मनाया गया राष्ट्रीय सेना दिवस

Mrtdarpan@gmail.com

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News