मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठस्वास्थ्य

एलएलएम एक साल के पाठ्यक्रम के लिए ब्रोशर रिलीज समारोह।

मेरठ- स्कूल ऑफ लॉ एंड कांस्टीट्यूशनल स्टडीज, शोभित विश्वविद्यालय, मेरठ मे एक वर्षीय एलएलएम के ब्रोशर के विमोचन का ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित किया गया। यह पाठ्यक्रम स्कूल के सेन्टर फ़ॉर पोस्ट ग्रेजुएट लीगल स्टडीज के तत्वाधान में शुरू किया गया है। सेन्टर के गठन में वरिष्ठ शिक्षाविद ओर वरिष्ठ अध्यापकों की एक टीम को रखा गया जो इस पाठ्यक्रम की तमाम शैक्षणिक आवश्यकताओं को देखते हुए छात्रों को शोध हेतु निर्देशित करते हैं।

इस अवसर पर कुलाधिपति कुंवर शेखर विजेंदर ने कुलपति एवं विभाग को बधाई देते हुए इस पाठ्यक्रम के लाभ का उल्लेख करते हुए कहा कि यह पाठ्यक्रम न्यायपालिका तथा व्यवस्थापिका के क्षेत्र में काम कर रहे प्रोफेशनलस को विधि के क्षेत्र में गुणवत्ता बढ़ाने में काम करेगा। उन्होंने बताया की विधि स्कूल के अंतर्गत एक सेन्टर फ़ॉर लॉ एंड गुड गवर्नेस की स्थापना 2015 में की गयी थी। जिसमे भारत सहित कई अन्य देशो के विधि वेत्ताओं की टीम काम कर रही है जिसका मुख्य उद्देश्य कानून और समाज के बीच एक समन्वय स्थापित कर सामाजिक मांग के अनुसार कानून बनाने वाले निकायों को सलाह देना है। उन्होंने पाठ्यक्रम के महत्व को समझाते हुए बताया की शुरुआत में पाठ्यक्रम की कक्षाएं ऑनलाइन आयोजित की जाएंगी तथा कोविद महामारी की स्थिति सामान्य होने के बाद कक्षाएं शनिवार ऒर रविवार को आयोजित की जाएंगी।

कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए विश्वविधालय के कुलपति प्रो0 अमर प्रकाश गर्ग ने बताया की शोभित विश्वविद्यालय तथा विधि विभाग गुणवत्ता परक शिक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और उसी के परिणाम स्वरूप विधि विभाग के कई छात्रों का चयन विभिन्न राज्य की न्यायिक सेवाओ में हुआ है। उन्होंने हाल ही में छत्तीसगढ़ न्यायिक सेवा परीक्षा में छठी रेंक हासिल करने के लिए विधि विभाग की पुरातन छात्रा हर्षी अग्रवाल को बधाई दी। उन्होंने विधि विभाग के शिक्षकों से पाठ्यक्रम को अधिक गहन और गुणात्मक बनाने के लिए कहा ताकि पाठ्यक्रम के उद्देश्य की प्राप्ति की जा सके। इसी क्रम में सेवा निवर्त जिला जज  प्रमोद कुमार गोयल ने विधि विभाग को एक वर्षीय एलएलएम शुरू करने के लिए बधाई दी उन्होंने कहा कि न्यायिक सेवाओ में एलएलएम डिग्रीधारकों को तीन इंक्रीमेंट अधिक दिए जाते हैं तथा यह पाठ्यक्रम न्यायिक एवम प्रशासनिक सेवाओ में कार्यरत लोगो के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है तथा इन सेवाओ में काम करने वाले पेशेवरों कि पेशेगत आवश्यकताओं को पूर्ण करने में सक्षम है।
इस अवसर पर विश्विद्यालय के प्रशासक निदेशक एवं सेवा निवर्त आई पी एस प्रो0 एम के मिश्रा ने पुलिस एवं प्रशासनिक सेवाओ में पाठ्यक्रम की प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला। विभाग की डीन प्रो रश्मि नागपाल ने पाठ्यक्रम की विशेषताओं के साथ साथ उपलब्ध विशेषज्ञताओं का वर्णन करते हुए बताया की यह पाठ्यक्रम तीन विभिन्न विषयो में जोकि कॉरपोरेट एन्ड कॉमर्शियल लॉ, कॉन्स्टिट्यूशन एंड एडमिनिस्ट्रेटिव लॉ और क्रिमनल एंड सेकुरिएटी लॉ में उपलब्ध है उन्होंने बताया की पाठ्यक्रम को चलाने के लिए वरिष्ठ शिक्षाविदों की एक टीम तैयार की गयी है जो पाठ्यक्रम के व्याख्यान से लेकर अन्य शैक्षणिक आवश्यकताओं की पुर्ति हेतु प्रतिबद्ध है अंत में विभाग के एसोसिएट डीन डॉ इमरान ने सबका धन्यवाद ज्ञापित किया।

Related posts

जिलाधिकारी ने किया कान्हा उपवन गौशाला परतापुर का औचक निरीक्षण

Mrtdarpan@gmail.com

होम आईसोलेषन में रह रहे व्यक्तियों से लें प्रतिदिन फीडबैक, लक्षण दिखने पर करें अस्पताल में भर्ती-नोडल अधिकारी

एनवायरमेंट क्लब ने ‘विश्व वन्यजीव दिवस’ के अवसर पर आरजी पीजी कॉलेज में आयोजित की पोस्टर प्रतियोगिता

Ankit Gupta

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News