मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठ

ट्रांसपोर्ट नगर दिल्ली रोड विकसित किए जाने के लिए मंडलायुक्त से मिले व्यापारी

मेरठ दर्पण- ट्रांसपोर्ट नगर दिल्ली रोड मेरठ में आज से लगभग 35 साल पहले बनाकर ट्रांसपोर्टर्स को दिया गया था। अध्यक्ष गौरव शर्मा ने बताया कि ट्रांसपोर्ट व्यवसायियों का करोड़ो रुपया इस स्थान पर लगा है। अपनी अपनी सुविधानुसार ऑफिस व गोदाम ट्रांसपोर्टर द्वारा बनाये गए हैं। आज इतना समय बीत जाने के बाद भी आवास विकास/ मेरठ विकास प्राधिकरण द्वारा ट्रांसपोर्ट नगर को पूर्ण रूप से विकसित नहीं किया जा सका है। सड़कों में गहरे गहरे गड्ढे तथा नालियों का ना होना ट्रांसपोर्ट की परेशानी का सबब बना रहता है। बरसात में ट्रांसपोर्ट नगर की गलियों में 3 से 4 फुट पानी खड़ा हो जाता है तथा गोदामों में पानी जाकर माल को खराब करता है। हमारी लगातार आवास विकास/ मेरठ विकास प्राधिकरण से विनती रही है कि यहां की सड़कों को बनवाएं तथा नाले नालियों को मुख्य नाले से जोड़कर यहां जलभराव की समस्या को खत्म करें । दूसरी समस्या यहां के मुख्य मार्ग पर अतिक्रमण की है। दिल्ली रोड ट्रांसपोर्ट नगर के मुख्य द्वार से लेकर बागपत रोड को जोड़ने वाला यह मुख्य मार्ग दोनों ही ओर से अतिक्रमण के कारण जाम से जूझता रहता है। आपके संज्ञान में लाना है कि इस सड़क के दोनों ओर होटल, ढाबे , गाड़ियों धोने के गैराज, रोड़ी, बदरपुर तथा अन्य व्यवसायिक कार्यो के लिए इस सड़क के दोनों ओर की मुख्य भूमि पर अतिक्रमण है।
सरकार द्वारा बनाए गए ट्रांसपोर्ट नगर में इतनी जगह है कि आने वाले 20 साल में भी नए ट्रांसपोर्ट नगर बनाने की आवश्यकता नहीं होगी।
संज्ञान में आया है कि कुछ बिल्डर द्वारा आवास विकास/ मेरठ विकास प्राधिकरण के अफसरों को इस ट्रांसपोर्ट नगर को बेहतर सुविधाएं देने से रोके जाने के लिए प्रेरित किया जाता है। साथ ही साथ अतिक्रमण मुक्त कराए जाने की हर मुहिम को फेल करने की कोशिश इन बिल्डरों द्वारा की जाती है। इन बिल्डरों के कुछ साथी जो ट्रांसपोर्ट का काम भी करते हैं अतिक्रमण हटाने की मुहिम में सामने आकर खड़े हो जाते हैं जिससे यह अभियान फेल हो जाए। यह बिल्डर चाहते हैं कि यह ट्रांसपोर्ट नगर यहां से शिफ्ट होकर इनके द्वारा पूर्व में ही खरीदी गई पांचली की जमीन पर बनाया जाए, जिससे इन्हें काफी मोटा मुआवजा मिल सके। हम आपको यह भी अवगत कराना चाहते हैं कि ग्राम पांचाली की भूमि, (प्रस्तावित न्यू टीपी नगर) का मालिकाना हक किसानों के पास ना होकर कुछ बड़े बिल्डर्स के पास है, जिस कारण यहां पर भूमि की कीमत ज्यादा की जा रही है। महोदया आपको बतलाना है की पांचली में जहां नए ट्रांसपोर्ट नगर की वार्ता प्रत्येक बोर्ड बैठक में मेरठ विकास प्राधिकरण में की जाती है वहां का भूगोल ऐसा है कि अगर वहां ट्रांसपोर्ट नगर बना दिया जाए तो पास ही में बने विद्या नॉलेज पार्क जहां पर हजारों बच्चे पढ़ते हैं साथ ही के०एम०सी० जैसे महत्वपूर्ण अस्पताल के आगे हमेशा जाम लगा रहेगा, साथ ही एक्सीडेंट होने की संभावनाएं बनी रहेंगी। बाईपास से बागपत रोड पर पांचली जाने के लिए बहुत ही संक्रिय मार्ग है। पांचली में ट्रांसपोर्ट नगर होगा तो बाई पास का यह चौराहा हमेशा जाम से जूझता रहेगा।

1). ट्रांसपोर्ट नगर दिल्ली रोड की सड़कें तथा नाले नालिया बनवा कर इसकी दशा सुधारने की और ध्यान दिया जाए, जिससे यहां के लोग बिना जलभराव के अपना कार्य कर सकें ।

2). ट्रांसपोर्ट नगर के मुख्य मार्ग दिल्ली रोड से बागपत रोड को जोड़ने वाली मार्ग के दोनों और अतिक्रमण मुक्त अभियान बार-बार चलाकर इस रोड पर जाम लगने से बचाएं ।

3). नए ट्रांसपोर्ट नगर सरकार की नीतियों में आना भी है तो ऐसी जगह चयनित की जाए जहां से मेरठ के मुख्य मार्गों को आसानी से जोड़ा जा सके जैसे मवाना रोड, रुड़की रोड, गढ़ रोड, हापुड़ रोड तथा अन्य मुख्य मार्गों को जोड़ने वाली रिंग रोड पर हो।

4). एक विशेष टीम गठित कर इस बात का खुलासा किया जाए कि किन परिस्थितियों में इन्हीं बिल्डर की जगह को बागपत रोड पांचली में ट्रांसपोर्ट नगर कौन सी महायोजना में चिन्हित किया गया तथा पिछले 10 वर्षों से अधिक समय से बार-बार पांचली में ट्रांसपोर्ट नगर शिफ्ट करने की बात प्राधिकरण के अधिकारी क्यों करते हैं।

5). ट्रांसपोर्ट नगर शिफ्ट किये जाने की हर बैठक में ट्रांसपोर्ट नगर के व्यवसाइयों का भी प्रतिनिधित्व होना आवयशक है।

इस मौके पर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन मेरठ के अध्यक्ष गौरव शर्मा, महामंत्री दीपक गांधी, व्यापारी नेता विपुल सिंघल, उपाध्यक्ष पंकज अनेजा, सुरेंद्र शर्मा, अतुल शर्मा, सुभाष, अनीश चौधरी, पिंकू, देवीचरण सैन, दीपक रहलन आदि मौजूद रहे।

Related posts

संंक्रमण काल में मानसिक स्वास्थ्य : समस्याएं और समाधान’ विषय पर एक वेबिनार

शोभित विश्वविद्यालय में “सेल कल्चर” पर अंतरराष्ट्रीय वेबीनार

Mrtdarpan@gmail.com

प्रख्यात रचनाकार दिनेश रंघुवशी समेत देश की तीन नामचीन हस्तियां हुई ’’मानद पी0एच0डी0 (डाक्ट्रेट) उपाधि से विभूषित

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News