मेरठ दर्पण
Breaking News
राष्ट्रीयशिक्षा

जिलाधिकारी को दिया ज्ञापन सुनवाई नही हुई तो खून बेच कर जमा करेगे फीस

  • मेरठ दर्पण- मेरठ ऑल स्कूल एसोसिएशन की टीम सभी स्कूलों के अभिभावको के साथ चौधरी चरण सिंह पार्क से एकत्रित हुए। वहा से पैदल मानव श्रृंखला के रूप में हाथों में नो स्कूल नो फीस के स्लोगन लेकर व नो स्कूल नो फीस के नारे लगाते हुए कलेक्ट्रेट तक पहुँचे और ज्ञापन दिया। जिसमे समाजवादी पार्टी के नेता अतुल प्रधान ने अपने भारी संख्या में कार्यकर्ताओं के साथ पहुँच कर ऑल स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन एवं समस्त अभिभावकों का समर्थन किया। पब्लिक स्कूलों में कोरोना काल की फीस मॉफी के लिए चलाए जा रहे “नो स्कूल नो फीस “अभियान की आवाज अब स्कूल संचालकों तक पहुंच रही है l जिस पर स्कूल संचालक अभिभावकों का ओर अधिक उत्पीड़न करने लगे है और स्कूल से मैसेज भेजकर परेशान करने लगे है कि या तो फीस जमा करवाओ या फिर टी.सी कटवाओ जिससे परेशान हो कर आज अभिभावकों ने ये कदम उठाया और सभी ने हाथ मे नो स्कूल नो फीस से संबंधित स्लोगन ले कर कोविड-19 के नियमो का पालन करते हुए अपनी परेशानी जिलाधिकारी को सुनाई।
    कोरोना महामारी के कारण उतपन्न हुई अभिभावकों की परेशानी को समझते हुए आल स्कूल पैरेंट्स एसोसिएशन मेरठ महानगर अध्यक्ष जूही त्यागी जो खुद एक अभिभावक है उनके नेतृत्व में लगभग सैकड़ों की संख्या में अभिभावक आज सामने आए और अपनी पीड़ा सुनाई।
    अभिभावकों ने डी एम से कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा फ़ीस निर्धारण हेतु बनाए गए स्ववित्तपोषित स्वतंत्र विद्यालय (शुल्क विनियम) अधिनियम 2018 के तहत जनपद स्तरीय कमेटी का गठन किया जाना है
    किंतु जनपद मेरठ में कमेटी का गठन किया गया है ऐसी जानकारी जनपद के पेरेन्ट्स को नही है।
    डीएम को अवगत कराया कि अपर प्रमुख सचिव द्वारा दिनांक:04-07-2020 को जारी किए गए आदेशानुसार भी किसी भी स्तर की कार्यवाही भी जिला शुल्क नियामक समिति द्वारा ही की जानी है।
    लॉकडाउन अवधि के कारण जनपद में फ़ीस जमा कराने के लिए स्कूलो द्वारा अभिभावकों पर अत्यधिक दबाव बनाया जा रहा है।
    जिलाधिकारी को दिए गए ज्ञापन के माध्यम से अनुरोध है कि कृपया प्रदेश सरकार द्वारा बनाए गए अधिनियम का अनुपालन करते हुए जनपद स्तरीय कमेटी का गठन शीघ्र अतिशीघ्र कराया जाए।
    जूही त्यागी के साथ सभी अभिभावकों ने जिला अधिकारी पर आरोप लगाए की वो स्कूल फीस के मामले में कोई सक्रियता नही दिखा रहे है कितनी ही बार ज्ञापन देने के बाद भी उन्हें मेरठ जिले के अभिभावकों की कोई चिंता नही है अभिभावकों ने कहा ही इस बार अगर जिलाधिकारी उनकी नही सुनते है तो कलेक्टरेट में एक मेडिकल कैम्प लगा दे जिससे अभिभावक अपने खून और किडनी बेच कर अपने बच्चो की फीस जमा करवा दे।
    आल स्कूल पैरेंट्स एसोसिएशन अध्यक्ष जूही त्यागी की अध्यक्षता में व नीरज शर्मा के नेतृत्व में ,संजीव आहूजा ,आशीष शर्मा,अर्पित भारद्वाज, प्रेसन कश्यप ,अंकुर विश्नोई ,सुशील वर्मा,आशुतोष अरोरा,राजेश अरोरा,अमित चौधरी ,संजय तायल ,संगीता शर्मा,संजना ठाकुर ,अजय शर्मा, ,पूजा शर्मा,राहुल गुप्ता,विनय मेहरा,ऐ. के शर्मा,दिशु कंशल, पल्लव गर्ग,अमित शर्मा,संजीव मंगवाना,निर्दोश त्यागी,फैसल रज़ा,अवनी शर्मा,सुशील शर्मा,जतिन ढींगरा, ,अजीत शर्मा,आशीष गोयल,राहुल धवन आदि मौजूद रहे।

Related posts

उपराष्ट्रपति चुनाव – धनकड़ के सामने विपक्ष की एकता ध्वस्त

Ankit Gupta

10वीं, 12वीं के विद्यार्थी बोर्ड परीक्षा के नजदीकी समय में न करें ये गलतियाँ, वरना बिगड़ सकता है आपका स्कोर

Ankit Gupta

मेरा शहर मेरी पहल व भूगर्भ जल विभाग के संयुक्त तत्वाधान में हुई वेबनार

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News