मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठलखनऊस्वास्थ्य

मुख्यमंत्री ने वीडियों कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से प्रदेश व जिले में किया दस्तक एवं संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारम्भ

मेरठ -प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियों कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से प्रदेश व जिले में दस्तक एवं संचारी रोग नियंत्रण अभियान का शुभारम्भ किया। एक माह तक चलने वाले इस अभियान के शुभारम्भ के अवसर पर उन्होने कहा कि अंर्तविभागीय समन्वय एवं टीमवर्क से हमने जेई और एईएस को नियंत्रित किया है। उन्होने कहा कि अक्टूॅबर माह में विशेष सावधानी एवं सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। इस समय कोरोना वायरस भी सक्रिय है। इसलिए इन बीमारियों से बचने के लिए जागरूकता एवं बचाव श्रेष्ठ उपाय है। दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी अपनाना होंगा। उन्होने निर्देश दिया कि स्वास्थ्य विभाग अन्य गतिविधियों को संचालित करते हुए छूटे हुए बच्चों का टीकाकरण पूरा कराये।
आयुक्त अनीता सी0 मेश्राम ने आमजन से अपील करते हुये कहा कि वह अपने घर पर दरवाजों व खिडकियों पर जाली अवश्य लगवायें, अनुपयोगी वस्तुओं व घर व कार्यस्थल के आसपास पानी एकत्र न होने दें, जानवर व बाड़े घर से दूर रखें अपने बच्चों को सभी आवश्यक टीके अवश्य लगवायें तथा स्वच्छ पेयजल पियें, रोजाना स्नान करें, मच्छरों से बचाव हेतु पूरी बाजू की पैंट व कमीज पहने तथा साफ सफाई को विशेष ध्यान रखें। घर व उसके आस-पास सफाई रखें तथा पानी का जमावड़ा न होने दें।

उन्होने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देषित किया कि अभियान का असर जमीनी स्तर पर दिखना चाहिए। उन्होने कहा कि आमजन को स्वच्छता के प्रति जागरूक करें तथा माईक्रोप्लाॅन के अनुसार अधिकारी कार्य करे। उन्होने कहा कि सभी संबंधित विभाग के अधिकारी व कर्मचारी एक टीमवर्क के रूप में कार्य करें।
जिलाधिकारी के0 बालाजी ने बताया कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं दस्तक अभियान का तृतीय चरण प्रदेश के समस्त 75 जनपदों में दिनांक 01 अक्टूबर 2020 से 31 अक्टूबर 2020 तक चलाया जायेगा, जिसमें विभिन्न विभागों द्वारा अनेको गतिविधियां आयोजित की जायेगी तथा आमजन को संचारी रोगो के बचाव के प्रति जागरूक किया जायेगा।
उन्होने प्रत्येक परिवार में जनवरी 2020 से सितम्बर 2020 के बीच जन्मे शिशु का नाम व पता अंकित करते हुये उसके सम्पूर्ण टीकाकरण का विवरण निर्धारित प्रपत्र पर अंकित कर ब्लाॅक मुख्यालय में जमा किया जायेगा।
उन्होने जनपद व ब्लाॅक स्तर पर अन्तर्विभागीय बैठके, ब्लाॅक स्तर पर नोडल अध्यापको का संवेदीकरण, स्थानीय निकायों पर संवेदीकरण बैठके, ब्लाॅक स्तरीय ग्राम प्रधान संवेदीकरण बैठक, ब्लाॅक चिकित्सालय पर आषा, एएनएम तथा आंगनबाडी कार्यकत्र्रियों का संवेदीकरण के कार्यक्रम भी आयोजित कराने के निर्देष स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियो को दिये।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 राजकुमार ने बताया कि संक्रामक रोगो से बचाव के विभिन्न उपायो में अपने आस-पास नालियों में जलभराव न होने दें, खाने से पहले अपने हाथ धोये, खुले में शौच न करें, जंगली झाडियों को नियमित साफ करें, गडडो में पानी इकट्ठा न होने दें, पानी की टंकी को पूरी तरह ढक कर रखे, मच्छरदानी का प्रयोग करें, मच्छररोधी उपाय अपनाये, घर व कार्यस्थल के आस-पास पानी जमा न होने दें, पूरी बांह वाली कमीज व पेन्ट पहने, दरवाजे व खिडकियों पर जाली लगवाना आदि उपाय है। उन्होने बताया कि संचारी रोग जैसे मलेरिया, खसरा, हैपेटाईटिस, एड्स, एचआईवी, कोरोना आदि है। उन्होने कहा कि संचारी रोग के बारे में अधिक जानकारी के लिए सरकार ने एक टोल फ्री नंबर भी जारी किया है जो कि 1800-180-5145 है।
इस अवसर पर मण्डलीय सर्विलांस अधिकारी डा0 अशोक तालियान, डा0 पी0पी0 सिंह सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Related posts

लखनऊ:उत्तर प्रदेश बोर्ड की 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा तिथि जारी

ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन मेरठ ने एमडीए उपाध्यक्ष को दिया ज्ञापन

Ankit Gupta

एमआईईटी की चित्रा ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से करेंगी पोस्ट ग्रेजुएशन

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News