मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठशिक्षा

शोभित विश्वविद्यालय, मेरठ में साप्ताहिक फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम का आयोजन

मेरठ-शोभित विश्वविद्यालय मेरठ में, “टूल एंड टेक्निक्स फॉर राइटिंग क्वालिटी रिसर्च पेपर्स एंड पब्लिशिंग इन हाई-इम्पैक्ट इंटरनेशनल जर्नल्स” पर एक सप्ताह की फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम का आयोजन २२-२७ सितम्बर २०२० को हुआ ।
आयोजन, संस्था के आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन सेल के निदेशक, प्रोफ़ेसर नीरज सिंघल ने किया . इस कार्यक्रम का उद्घाटन संबोधन, मुख्य अतिथि माननीय प्रो. के.के. अग्रवाल (एन.बी.ए. चेयरमैन) ने दिया l उन्होंने इस तरह के एक एफडीपी कार्यक्रम के आयोजन के लिए विश्वविद्यालय का स्वागत किया और कहा कि “अनुसंधान के बिना शैक्षणिक संस्थान अपना विकास नहीं कर सकते हैं”, अपने अनुभव व रिसर्च के दौरान होने वाले कठिनायिओं से किस तरीके से समाधान किया जाये से रूबरू कराया l “मैनी काम्प्लेक्स प्रॉब्लम हैव सिम्पल सलूशन” l
प्रख्यात वक्ता व शोधकर्ता प्रो. असोक डे, प्रो. बी.के. कौशिक, डॉ.संदीप पाठक, डॉ. पी. माल्याद्री तथा डॉ. कृष्णराज इस फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम में प्रख्यात वक्ता रहें l इस एफडीपी के लिए देश भर के लगभग २०० संकाय सदस्यों और अनुसंधान विद्वानों ने पंजीकरण किया । प्रो. राकेश सिंघई, डीन (स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी) ने स्वागत भाषण दिया।
कुलाधिपति श्री कुंवर शेखर विजेंद्र ने अध्यक्षीय भाषण में कहा की अनुसंधान आपका विजिटिंग कार्ड है ,अतः आज के युवा शोधकर्ताओ को अपने शोध पे विशेष ध्यान देने की जरुरत है l “न केवल विज्ञान और प्रौद्योगिकी , अनुसंधान सामाजिक विज्ञान में भी हो सकता है, जो हमारे शोभित विश्वविद्यालय में हो रहा हैं l ” ,
प्रो असोक डे (डी टी यु ) ने अपने कथन में बताया की आज के शोधकर्ताओ, शोध पत्रों की संख्या के बनस्पत गुणवत्ता वाले शोध पत्र पर ज्यादा ध्यान दे l कुलपति प्रो. अमर गर्ग ने अपने भाषण में जर्मनी के महान वैज्ञानिक प्रो. हडसन से जुड़ी,आपबीती घटना से श्रोताओ को रूबरू कराया I उन्होंने दशको पहले , शोध में होने वाले मुश्किलों तथा आज की उपलब्ध तकनीकियों पे अपने भाव वक्त किये .
पहले सत्र में प्रो.असोक डे ने “हिंट्स ऑन राइटिंग क्वालिटी टेक्निकल रिसर्च पेपर्स” पर अपनी बात राखी , दूसरे सत्र में प्रो. बी. के. कौशिक (आई. आई. टी ., रूडकी ) ने “पब्लिशिंग इन हाई इम्पैक्ट जर्नल्स : टिप्स एंड टेक्निक्स” पर प्रकाश डाला । तीसरे सत्र में आई.आई.एस.ई.आर. भोपाल से डॉ.संदीप पाठक ने “रिफरेन्स मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर फॉर एकेडेमिक कम्युनिटी ” पर अपने विचार रखे l चौथे सेशन में डॉ. पी . मल्याद्रि ( सी. इ. स. स., म. एच. र. डी.) ने अपने शोध पत्रों को स्कोपस इंडेक्स्ड जर्नल्स के लिए कैसे लिखा जाये से शोधार्थी श्रोता को रूबरू कराया .
बंग्लुरु से डॉ. कृष्णराज ने पांचमे सत्र में ” फिलॉसॉफी ऑफ़ टेक्नोलॉजी ” पर अपने विचार रखे । छटे सत्र में, प्रो. अमर प्रकाश गर्ग, कुलपति, शोभित विश्वविद्यालय, मेरठ, ने “ग्लोबल व्यू ऑफ़ रिसर्च इन २०३०” पर बात कीl
इस फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के संयोजक प्रोफ. नीरज सिंघल ने सभी का आभार जताया। , आयोजन में उपकुलपति डॉ. सुनील चन्द्रा , रजिस्ट्रार डॉ. गणेश भरद्वाज, डॉ. माया दत्त जोशी,अनिकेत कुमार, अखिलेश सिंह, दीपक गोयल, बीना रावत व विश्वविद्यालय के समस्त विभाग प्रमुख उपस्थित रहे।

Related posts

विनीत अग्रवाल शारदा ने चलाया जागरूकता अभियान

राम मंदिर के नाम पर एकत्र चंदे के दुरूपयोग मामले में कांग्रेस का प्रदर्शन

परीक्षितगढ़ में ईंट से पीट-पीटकर किसान की हत्या

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News