मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठ

दिव्यांजनों को कोरोना महामारी में सरकार द्वारा अतिरिक्त आर्थिक सहायता,एवं रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रधानमंत्री को लिखा पत्र

मेंरठ- प्रधानमंत्री जी आपने ने विकलांगजन का नाम दिव्यांगजन कर एवं दिव्यांगजन के कल्याण हेतु “दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग” की स्थापना कर दिव्यांगजन के विकास एवं समाज मे सम्मान दिलाने के प्रयासों से दिव्यांगजनो में एक नई ऊर्जा का संचार हुआ है। जिसके लिये दिव्यांगजन समाज माननीय प्रधानमंत्री आपका अत्यंत आभारी है। परंतु हमें बहुत खेद के साथ अवगत कराना पड़ रहा है कि दिव्यांगों को मात्र ₹500 प्रति माह पेंशन दी जाती है जोकि अत्यंत कम है कोरोना महामारी मे आर्थिक मंदी के चलते जो कुछ दिव्यांगजन निजी क्षेत्र में कार्यरत थे वह भी बेरोजगार हो गए है।
राजकीय सेवाओं में दिव्यांगजन के लिए आरक्षण 3% से बढ़ाकर 4% कर दिया गया है जबकि दिव्यांगता की श्रेणी 07 से बढ़ा कर 21श्रेणीया कर दी गई है। जिस के अनुपात में आरक्षण अत्यंत कम है। दिव्यांगों के कल्याण हेतु हमारी निम्नलिखित मांगे हैं

(1) दिव्यांग पेंशन ₹500 से बढ़ाकर अन्य राज्यों की भांति उत्तर प्रदेश में भी ₹ 2500 प्रति माह की जाए।
(2) राजकीय सेवाओं में दिव्यांग हेतु आरक्षण 4% से बढ़ाकर कम से कम 8% किया जाए ।

(3) केन्द्र एवं राज्य सरकार के कार्यालयों में दिव्यांगों के लिए आरक्षित खाली पदों पर नियुक्ति कर बैकलॉग पूरा किया जाए।

(3) दिव्यांगों को प्रतिमाह 200 विद्युत यूनिट निशुल्क दिए जाएं।

(4) दिव्यांग जनों को गृह कर से छूट दी जाए। आवास विहीन दिव्यांगों को प्रधानमंत्री आवास योजना में आवास आवंटित किए जाएं।

(5) अविवाहित दिव्यांग जनों का भी उज्वला योजना के तहत रसोई गैस निशुल्क उपलब्ध कराई जाए ।

(6) सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान , शत प्रतिशत दिव्यांगों को ही आवंटित की जाए ।

(7) आयुष्मान योजना में शत प्रतिशत दिव्यांग जनों का पंजीकरण किया जाए।

(8) दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग द्वारा जिला स्तर पर दिव्यांगता की श्रेणी बार( शैक्षिक योग्यता सहित) सूची (Inventory) बनाकर रिकॉर्ड रखा, जाए तथा जिला रोजगार कार्यालय के साथ समन्वय स्थापित कर दिव्यांगों को रोजगार उपलब्ध कराने की कार्यवाही की जाए ।

(9) वर्तमान में लोक डाउन के चलते दिव्यांगजनों को पेंशन के साथ केंद्र द्वारा अतिरिक्त ₹1000 तीन माह तक देने की घोषणा की गई थी प्राप्त नही हो रही हैअतिरिक्त धनराशि रु 1000 सभी दिव्यांगों को दी जाए ।

आप से करबद्ध प्रार्थना है कि उपरोक्त सभी मागों पर सहानुभूति पूर्वक विचार कर दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग को आदेशित करने की कृपा करें।

आयुष गोयल ,पीयूष गोयल
( दिव्यांग जुड़वाँ भाई )
निदेशक
पर्यावरण एवं स्वच्छता क्लब मेरठ।

Related posts

राज्यमंत्री ऊर्जा व जिलाधिकारी ने आत्मनिर्भर आधारशिला लैब का फीता काटकर किया उद्घाटन

भाजपा नेता काजी शादाब के आवास पर आयोग के चेयरमैन का हुआ स्वागत

कृषि मेला व प्रदर्षनी में वैज्ञानिकों ने किया कृषकों की कृषि संबंधी समस्याओं का समाधान

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News