मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठ विशेष

गैनोडर्मा औषधीय मशरूम का दुर्लभ मशरूम एन.ए.एस.इन्टर कालेज में मिला

अच्छे स्वास्थ और लम्बी आयु के लिए राम बाण हैं ये
यकृत को रिपेयर करने, कैंसर, मधुमेह ,सुजन,हेपेटाइट बी,अल्सर जैसे रोगो में आता हैं काम
सभी ने उसे मात्र एक सामान्य कवक समझा लेकिन विज्ञान अध्यापक दीपक शर्मा ने जाना उसकी औषधीय गणों को उनहोने बताया कि ऐसे 10000 पुराने पेड़ों में से केवल दो या तीन में लिंग्ज़ी की वृद्धि होगीए और इसलिए इसका जंगली रूप दुर्लभ है। लिंग्ज़ी की खेती दृढ़ लकड़ी के लट्ठोंए चूरा या वुडचिप्स पर की जा सकती है।
गैनोडर्मा ल्यूसिडम एक औषधीय मशरूम है जिसका उपयोग सदियों से मधुमेह कैंसर सूजन अल्सर के साथ.साथ बैक्टीरिया और त्वचा संक्रमण जैसी बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। भारत में हालांकि कवक की क्षमता का अभी भी पता लगाया जा रहा है।
हाल के वर्षों में अधिक से अधिक अध्ययनों में पाया गया है कि गणोडर्मा के यकृत की विभिन्न चोटों पर कई हेपेटोप्रोटेक्टिव प्रभाव होते हैंए जिसमें हेपेटोसेलुलर कार्सिनोमा गैर.अल्कोहलिक यकृत रोग मादक यकृत रोग हेपेटाइटिस बी सूजन फाइब्रोसिस और विषाक्त.प्रेरित यकृत की चोट शामिल हैं।
ल्यूसिडमए एक प्राच्य कवक चीन जापान और अन्य एशियाई देशों में स्वास्थ्य और दीर्घायु को बढ़ावा देने के लिए उपयोग का एक लंबा इतिहास रहा है। यह चमकदार बाहरी और लकड़ी की बनावट वाला एक बड़ा गहरा मशरूम है।

Related posts

शोभित विश्वविद्यालय में मां आदर्श विजेंद्र जी की याद में प्रार्थना सभा का आयोजन

Ankit Gupta

अग्रवाल समाज महासभा की महिला सदस्यों द्वारा बैठक का आयोजन

रोज टूट रहे पुराने रिकॉर्ड,नही रुक रहा कोरोना का कहर

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News