मेरठ दर्पण
Breaking News
मेरठलखनऊस्वास्थ्य

मुख्यमंत्री ने वीडियों काॅन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से 13 बीएसएल-2 लैब का लोकार्पण कर किया जनसमर्पित

मानवता के कल्याण का मार्ग यही से होता है शुरू, सभी करें टीमवर्क के साथ कार्य- मुख्यमंत्री

टेस्टिग बढ़ाकर, बेहतर सर्विलांस व लक्षण के आधार पर उपचार से कोरोना को हरा सकते है- मुख्यमंत्री

मेंरठ- प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज अनंत चतुदर्षी के शुभ अवसर पर मेडिकल कालेज में वीडियो काॅन्फेन्सिंग के माध्यम से 10 राजकीय व 03 निजी मेडिकल कालेज में बाॅयो सेफ्टी लेवल (बीएसएल)-2 का लोकार्पण/शुभारम्भ कर जनसमर्पित किया। उन्होने कहा कि देश में सबसे ज्यादा टेस्टिग उत्तर प्रदेश में करायी जा रही है। हम टेस्टिग बढ़ाकर, बेहतर सर्विलांस से व लक्षण के आधार पर उपचार देकर कोरोना को हरा सकते है। प्रदेश में अब 211 टेस्टिंग लैब हो गयी है। उन्होने कहा कि हम अब हर जिले में एक लैब स्थापित करेंगे। इस अवसर पर उन्होने राजकीय व निजी मेडिकल कालेज के प्रधानाचार्यों से संवाद भी स्थापित किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि गुणवत्तापरक व पारदर्शी ढ़ग से टेस्टिग करें व टीमवर्क के साथ कार्य करें। उन्होने कहा कि जितना योग्य व सक्षम टेक्नीशियन होगा उतने अच्छे परिणाम आयेंगे। उन्होने जिन 13 जनपदों के राजकीय व निजी मेडिकल कालेज में टेस्टिग लैब स्थापित हो रही है उनके प्रधानाचार्यों व प्रतिनिधियों से वार्ता कर लैब टेस्टिग को बढाने को कहा तथा स्टाफ की ट्रेनिग व मैनपावर की जानकारी ली। उन्होने नई टेस्टिग लैब प्रारंभ होने पर सभी को बधाई दी तथा
मुख्यमंत्री ने कहा कि अनंत चतुर्दर्शी के शुभ अवसर पर 13 टेस्टिग लैब का प्रदेश में शुभारम्भ किया गया है। उन्होने बताया कि प्रदेश में अब 63 आरटीपीसीआर लैब व 148 टू-नेट लैब हो गयी है। साथ ही एंटीजन किट से भी टेस्टिग की जा रही है। उन्होने इस अवसर पर सभी चिकित्सको, मेडिकल स्टाफ, जनप्रतिनिधियों, जिला प्रशासन व जनता का आभार व्यक्त करते हुये उन्हें बधाई दी व जनता के सहयोग के लिए उनका आभार व्यक्त किया।
उन्होने कहा कि यह विश्व मानवता के सामने व हम सबके सामने चुनौती है जिसका हमें सामना करना है। उन्होने कहा कि जब तक कोई कारगर उपचार या वैक्सीन नहीं आती है तब तक ज्यादा से ज्यादा टेस्टिग, सर्विलांस व लक्षण के आधार पर उपचार कर जनहानि को रोक सकते है। उन्होने कहा कि मानवता के कल्याण का मार्ग यही से शुरू होता है। उन्होने कहा कि सभी टीमवर्क के साथ कार्य करें।
उन्होने प्रधानमंत्री की प्रशंसा करते हुये कहा कि उनके द्वारा शुरू में ही कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए जो कदम उठाये गये उसी का परिणाम है कि विकसित देशो के मुकाबले भारत में कम जनहानि हुई है। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री ने जनसंवाद कर, मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर आत्मनिर्भर भारत अभियान व प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना आदि के माध्यम से कोविड-19 से लड़ने में बडी भूमिका निभाई है। उन्होने कहा कि समय से उठाये गये कदम का ही परिणाम है कि 135 करोड भारतवासी सुरक्षित स्थिति में है।
उन्होने कहा कि हम सब अनलाॅक-4 में कल से प्रवेश कर रहे है जिसमें सभी गतिविधियां प्रारंभ होगी। उन्होने कहा कि 23 मार्च 2020 को हमारे पास एक टेस्टिग लैब थी जो कि अब 211 हो गयी है। आज हम 1.5 लाख टेस्ट प्रतिदिन कर रहे है। उन्होने कहा कि हमने व्यापक पैमाने पर टेस्टिग को बढाकर कोरोना की चेन को तोडने का प्रयास किया। उन्होने कहा कि हमने टीमे बनायी, निगरानी समितियां बनायी। उन्होने कहा कि जितना प्रषिक्षित मैनपावर होगा वह हमारी उपलब्धि है।
उन्होने कहा कि हर मंडल में टेस्टिग लैब स्थापित करने के बाद हम अब हर जिले में एक लैब स्थापित करेंगे। उन्होने कहा कि पूर्व में भी वेक्टर जनित (वायरस जनित) बीमारियो से अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग बीमारियों से जनहानि हुआ करती थी। उन्होने कहा कि हम 2016 से 2020 की तुलना करे तो हमने वेक्टर जनित मौतो में 95 प्रतिषत तक की कमी लायी है।

उन्होने कहा कि प्रदेश में बीएस-3 स्तर की 05 लैब के विस्तारीकरण पर भी कार्य चल रहा है जिसमें शांहजहांपुर,ग्रेटर नोएडा, नोएडा, कन्नौज व गोरखपुर है। उन्होने कहा कि प्रयागराज के मेडिकल कालेज में टेस्टिग के लिए को बास मशीन भी उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होने कहा कि देश में सबसे ज्यादा टेस्टिग उ0प्र0 में करायी जा रही है तथा पर मिलियन पर भी सबसे ज्यादा टेस्टिग उ0प्र0 में हो रही है। उन्होने बताया कि पूर्व में 08 हजार प्रति मिलियन टेस्टिग उ0प्र0 में थी जिसे बढाकर 24 हजार प्रति मिलियन की दर तक कर दिया है।

चिकित्सा एवं षिक्षा मंत्री सुरेष खन्ना ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री के कुशल दिशा निर्देशन में कोरोना की वैष्विक महामारी को हर स्तर पर पराजित करने का प्रयास किया गया। उन्होने इसके लिए मा0 प्रधानमत्री व मा0 मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री ने कोरोना का प्रभाव उ0प्र0 में कम से कम हो इसके प्रयास किये तथा गत पांच माह में अच्छा व अनुकरणीय कार्य उ0प्र0 में हुआ। उन्होने कहा कि प्रदेश में पाजिटीविटी व मृत्यु दर व अन्य छोटे राज्यों से भी तुलना करने पर हम अच्छी स्थिति में है। उन्होने कहा कि आज हम 55 लाख टेस्ट कर चुके है जो कि देष में सर्वाधिक है।
प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा रजनीश दुबे ने कहा कि प्रदेश मेें अब 211 लैब हो गयी है जिसमें 63 आरटीपीसीआर की है। अब हर मंडल में 01 लैब हो गयी है। उन्होने बताया कि राजकीय चिकित्सालयों में कोरोना का निशुल्क उपचार किया जाता है। प्रतिदिन 1.5 लाख कोविड टेस्टिग उ0प्र0 में की जा रही है। 1.51 लाख से अधिक कोविड बैड की उपलब्धता है तथा अब तक 55 लाख से अधिक कोविड टेस्टिग करायी जा चुकी है।
उन्होने बताया कि जिन 10 राजकीय मेडिकल कालेज में आज बीएसएल-2 लोकार्पित की गयी है उसमें राजकीय मेडिकल कालेज जालौन, आजमगढ, अम्बेडकर नगर, सहारनपुर, बांदा, बंदायु व स्वषासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय बस्ती, बहराइच, फिरोजाबाद व अयोध्या है तथा जिन 03 निजी मेडिकल कालेज में लैब का शुभारंभ किया गया है उसमें जी0एस0 मेडिकल कालेज हापुड, मायो इ. आफ मेडिकल सांइसेज बाराबंकी व तीर्थांकर चिकित्सा विष्वविद्यालय मुरादाबाद है। उन्होने कहा कि कोरोना हैल्पलाईन नं0-1800-180-5145 है।
इस अवसर पर चिकित्सा मंत्री जय प्रताप सिंह, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीष अवस्थी, चिकित्सा षिक्षा रजनीष दुबे, केजीएमयू के कुलपति डा0 विपिन कोहली, मेरठ से एलएलआरएम के प्रधानाचार्य डा0 एस0के0 गर्ग, डा0 एस0 राठी, डा0 अमित गर्ग, डा0 धीरज बालियान सहित अन्य चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ उपस्थित रहे।

Related posts

नए एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने संभाला कार्यभार

जिलाधिकारी ने किया मेडिकल कॉलेज व जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण

जिलाधिकारी व एसएसपी ने किया पल्लवपुरम रूडकी मार्ग, गंगनहर पटरी एवं बाबा औघडनाथ मंदिर का स्थलीय निरीक्षण

Ankit Gupta
Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News