मेरठ दर्पण
Breaking News
मुजफ्फरनगर राष्ट्रीय

आतंकियों से मुठभेड़ में मुजफ्फरनगर का एक और जवान शहीद

मुजफ्फरनगर। जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों से लोहा लेते हुए जनपद का एक और लाल शहीद हो गया, जिसके चलते जनपद में शोक की स्थिति है। शहीद जवान के पिता भी आर्मी में नायक पद से रिटायर्ड है। जवान की शहादत का समाचार पाकर उनके निवास पर बड़ी संख्या में लोग शोक व्यक्त करने पहुंचे।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक मूल रूप से बागपत जनपद के बिजरोल गांव निवासी शीशपाल शर्मा सेना में नायक पद से रिटायर्ड है और वर्तमान में करीब 15 साल से बुढाना रोड पर मकान बनाकर रह रहे हैं। शीशपाल शर्मा के पुत्र प्रशांत शर्मा वर्ष 2017 में सेना में भर्ती हुए थे, जिसके बाद उनकी पहली पोस्टिंग राजस्थान में हुई थी। कुछ समय पूर्व उनकी पोस्टिंग जम्मू कश्मीर में कर दी गई थी, जहां आज उनके आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हो जाने की सूचना है। प्रशांत शर्मा की शहादत का समाचार मिलते ही उनके परिजनों सहित पूरे क्षेत्र में कोहराम मच गया।
बड़ी संख्या में क्षेत्र के लोग उनके आवास पर शोक व्यक्त करने पहुंचे। एक तरफ जहां लोगों के दिलों में प्रशांत शर्मा की शहादत के प्रति गर्व की भावना थी, वही उनके परिजनों की चीत्कार लोगों के सीने भी छलनी कर रही थी। प्रशांत शर्मा के परिजनों ने आरोप लगाया कि उनकी नियुक्ति नियम विरुद्ध जम्मू कश्मीर में की गई जबकि यह प्रावधान है कि जम्मू कश्मीर में कम से कम 5 साल की सेना सेवा का अनुभव रखने वाले जवानों को ही नियुक्त किया जाना चाहिए। पिछले एक पखवाड़े में जिले के दूसरे जवान ने देश के लिए अपनी जान लुटाई है। उल्लेखनीय है कि करीब एक सप्ताह पूर्व जिले के ग्राम गढ़ी नोआबाद निवासी जवान मोहित बालियान ने भी देश के लिए अपनी शहादत दी थी। उनकी अंतिम यात्रा में केंद्रीय मंत्री डॉ संजीव बालियान, भाकियू सुप्रीमो चौधरी नरेश टिकैत तथा प्रदेश सरकार के मंत्री कपिल देव अग्रवाल सहित हजारों लोगों का विशाल जनसमूह शामिल हुआ था।

मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना मोड़ निवासी प्रशांत शर्मा 2017 की भर्ती में सेना में भर्ती हुए थे। आतंकियों से आमने सामने भिड़ने के बाद गम्भीर रूप से घायल हुए प्रशांत शर्मा शहीद हो गए। शहीद प्रशांत शर्मा 25/12/98 को जन्मे थे व मात्र 22 वर्ष के थे। इसी साल 6 दिसंबर में उनकी शादी होना तय हुआ था, परिवार उनकी शादी की तैयारियों में लगा हुआ था, बस इंतजार था प्रशांत के छुट्टी मिलते ही घर आने का। मगर खुशी की वह घड़ी आने से पहले ही आज परिवार पर दुखों का यह बड़ा पहाड़ टूट पड़ा। शहीद प्रशांत के छोटे भाई निशांत शर्मा ने मीडिया को बताया कि उनके पिताजी शीशपाल शर्मा सेना में नायक के पद से रिटायर्ड है और वह तीन बहन भाई हैं। बहन की शादी हो गई है। निशांत ने बताया सेना के अधिकारियों ने बताया कि हमारा भाई आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हुआ है। अधिकारियों ने बताया शहीद प्रशांत शर्मा को तीन गोली सीने पर लगी हैं। निशांत शर्मा के साथ बातचीत में सेना के अधिकारियों ने बताया कि शहीद का पार्थिव शरीर कल सुबह उनके आवास बुढाना मोड मुजफ्फरनगर पहुंचेगा और उसके बाद काली नदी श्मशान घाट पर राजकीय सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

Related posts

डीएम ने किया जिला कोषागार का औचक निरीक्षण

राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार ने शिक्षक दिवस पर किया गुरूजनों का सम्मान

देश मे 30 लाख के पार कोरोना का आंकड़ा

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News