मेरठ दर्पण
Breaking News
लखनऊ

लखनऊ से एटीएस ने किए दो आतंकवादी गिरफ्तार

लखनऊ के काकोरी इलाके में रविवार को एटीएस ने घेराबंदी करके अलकायदा के दो आतंकियों को गिरफ्तार किया है. यूपी के एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि लखनऊ से गिरफ्तार किए गए दोनों आतंकवादी अलकायदा समर्थित अंसार गजवातुल हिंद संगठन से जुड़े हुए थे. ये लोग मानव बम बनकर 15 अगस्त से पहले लखनऊ समेत कई शहरों को दहलाने की योजना बना रहे थे. एटीएस को इनके पास से विस्फोटक बरामद हुआ है. उन्होंने बताया कि यह संगठन उमर नामक एक व्यक्ति द्वारा संचालित किया जा रहा था.

यूपी के एडीजी प्रशांत कुमार के अनुसार, अलकायदा समर्थित आतंकी संगठन पेशावर व क्वेटा से संचालित किया जा रहा था. उन्होंने कहा कि उमर लखनऊ में जेहादी प्रवृत्ति के लोगों को तैयार कर रहा था. मिनहाज अहमद और मशीरुद्दीन उर्फ मुशीर इस संगठन के सदस्य हैं. ये लोग 15 अगस्त से पहले शहरों में अलग-अलग जगह धमाके की योजना बना रहे थे. एडीजी के मुताबिक इनपुट के आधार पर मिनहाज के घर से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया गया है.

प्रशांत कुमार ने कहा कि सूचना मिलने पर एक टीम द्वारा मिनहाज अहमद के लखनऊ स्थित घर पर दबिश दी गई तो वह घर पर मिला. उसके घर से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद हुआ. एटीएस को उसके घर से एक पिस्टल व आईईडी बरामद हुई. वहीं, प्राप्त हुए आईईडी को बीडीडीएस की मदद से निष्क्रिय कराया जा रहा है. दूसरी टीम के द्वारा अभियुक्त मशीरुद्दीन के लखनऊ स्थित घर पर दबिश दी गई. उसके घर से भी भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद हुआ. एडीजी के अनुसार दोनों अभियुक्तों से एटीएस पूछताछ कर रही है.

आतंकियों के सहयोगियों की तलाश जारी
एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि अन्य टीमों द्वारा इन आतंकवादियों के सहयोगियों की तलाश हेतु अलग-अलग स्थानों पर दबिश दी जा रही है. पूछताछ के दौरान हिरासत में हिए गए अभियुक्तों द्वारा अपने सहयोगियों के घर से भाग जाने की बात कही गई है. जिसके आधार पर एटीएस की टीम इन इलाकों में सघन चेकिंग अभियान चला रही है.

 

कानपुर से मिली आतंकवादियों को मदद
आईजी एटीएस डॉ. जीएस गोस्वामी ने बताया कि आतंकी मिनहाज और मसरुद्दीन ने लखनऊ में ही प्रेशर कुकर बम की खेप तैयार करने के साथ ही 15 अगस्त से पहले लखनऊ, वाराणसी, प्रयागराज, आगरा, मेरठ, बरेली व अयोध्या को दहलाने की योजना बना ली थी. इन दोनों आतंकवादियों का कानपुर कनेक्शन सामने आया है. उन्होंने बताया कि प्रदेश में लखनऊ के साथ कानपुर से इन आतंकवादियों को मदद दी जा रही थी.

Related posts

विधान परिषद के लिए बीजेपी ने किये प्रत्याशी घोषित

हाईसिक्योरिटी नंबर प्लेट के बिना नहीं होंगे आरटीओ से जुड़े काम

लखनऊ: डबल मर्डर केस में बड़ा खुलासा, बहन ने ही मां-भाई को उतारा मौत के घाट

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News