मेरठ दर्पण
Breaking News
दिल्ली मेरठ

बेहतर तालमेल से मिलते है प्रभावी परिणाम, कोविड एप्रोपिएट बीहेवियर में न आये कमी- प्रधानमंत्री

आमजन में सामूहिक जिम्मेदारी का भाव करें पक्का, सामान्य मानव का विष्वास विजय की कुंजी-प्रधानमंत्री

जिलाधिकारी कोरोना महामारी नियंत्रण के संबंध में अपने अनुभव, प्रयास को साझा करते हुये जिले में डिस्ट्रिक्ट गजेटियर बनाये- प्रधानमंत्री

 

 

मेरठ- प्रधानमंत्री भारत सरकार नरेन्द्र मोदी ने आज वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से देष के विभिन्न राज्यों के जिलाधिकारियो से कोरोना महामारी नियंत्रण के संबंध में उनके द्वारा किये गये प्रयासो के संदर्भ में संवाद किया। उन्होने कोरोना मुक्त ग्रामो की संख्या बढ़ाने व वैक्सीनेषन कलेण्डर बनाकर उसका व्यापक प्रचार-प्रसार कराने के लिए कहा। उन्होने कहा कि कोरोना महामारी से लड़ाई में निरंतर चेंज, निरंतर अपगे्रडेषन व निरंतर इनोवेषन बहुत जरूरी है। अगर कहीं वैक्सीन वेस्टेज है तो उसको रोका जाये। जिलाधिकारी कोरोना महामारी नियंत्रण के संबंध में अपने अनुभव, प्रयास को साझा करते हुये जिले में डिस्ट्रिक्ट गजेटियर बनाये। उन्होने बरेली, उ0प्र0 के जिलाधिकारी सहित 07 जिलाधिकारियों से सीधा संवाद किया। उन्होने कहा कि सामान्य मानव का विष्वास विजय की कुंजी है।
प्रधानमंत्री ने जिलाधिकारियों से कहा कि आपने संसाधनो का बेहतर उपयोग कर इस लहर का मुकाबला किया। उन्होने कहा कि आप लोगो ने अपने जिले में होने वाली छोटी से छोटी दिक्कतो को दूर किया। उन्होने कहा कि महामारी के दौर में सबसे बडी जरूरत हमारी संवेदनषीलता व हौसले की होती है। उन्होने कहा कि आप सभी के प्रयास सराहनीय है। उन्होने कहा कि नयी चुनौतियो के लिए हमे नये समाधान की आवष्यकता होती है इसलिए हमें स्थानीय अनुभवो को साझा करते हुये देश के रूप में मिलकर कार्य करना है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि ग्रामों में कोविड टेस्टिंग की सुविधा को अधिक से अधिक ग्रामवासियो तक पहुंचाये, ग्रामवासियों से बेहतर समन्वय व संवाद बनाये, आपके संवाद से उनकी आशंकाएं आत्मविष्वास में बदल जाती है। उन्होने कहा कि ग्राम-ग्राम में यही संदेष दें कि ग्रामो को कोविड से मुक्त रखना है। उन्होने कहा कि ग्रामों में सही बात समय पर पहुंचाने पर ग्रामवासी उसको तन्मयता से अपनाते है।
उन्होने कहा कि आमजन में सामूहिक जिम्मेदारी का भाव पक्का करना होगा तथा यह सुनिष्चित करना होगा कि कोविड उचित व्यवहार (कोविड एप्रोपिएट बीहेवियर) में कमी न आये, यह कोरोना से लड़ाई में मदद करेगा। उन्होने कहा कि स्थितियों पर लगातार नजर रखें। उन्होने कहा कि बेहतर तालमेल से प्रभावी परिणाम मिलते है। उन्होने कहा कि जमीनी स्तर पर किये गये कार्यों के अनुभव साझा करने से पालिसी बनाने में सहायक होता है। उन्होने कहा कि केन्द्र से राज्यो को 15 दिनों के टीको की जानकारी दी जा रही है, जो उनके टीकाकरण अभियान में सहायक होगी।
उन्होने कहा कि वैक्सीनेषन कलेण्डर बनाकर उसका व्यापक प्रचार-प्रसार अलग-अलग मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से कराये। उन्होने कहा कि कोरोना महामारी से लड़ाई में निरंतर चेंज, निरंतर अपगे्रडेषन व निरंतर इनोवेषन बहुत जरूरी है। उन्होने कहा कि कोरोना नियंत्रण में डायनेमिक तरीके व डायनेमिक एप्रोच हो तथा यूनिक प्राब्लम का समाधान भी यूनिक हो। उन्होने कहा कि अगर कहीं वैक्सीन वेस्टेज है तो उसको रोका जाये। उन्होने कहा कि टियर-2 और टियर-3 जिलो का अलग से मूल्यांकन करना चाहिए।
उन्होने कहा कि वायरस के म्यूटेषन से बच्चो व युवाओ पर चिंता जताई जा रही है। उन्होने कहा कि हमें आगे के लिए और अधिक तैयार रहना होगा। उन्होने कहा कि हमारा लक्ष्य जीवन बचाव के साथ-साथ जीवन को आसान बनाना भी होना चाहिए। उन्होने कहा कि सभी जिलो के अधिकारी कोरोना महामारी नियंत्रण के संबंध में अपने अनुभव, प्रयास को साझा करते हुये जिले में डिस्ट्रिक्ट गजेटियर के रूप में बनाये ताकि आने वाली पीढ़ियो को आपके अनुभव व प्रयासो का फायदा होगा। उन्होने कहा कि सामान्य मानव का विष्वास विजय की कुंजी है। उन्होने कहा कि हमें आगे के लिए और अधिक तैयार रहना होगा।
केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि 18 मई 2021 को भी प्रधानमंत्री ने विभिन्न जिलो के अधिकारियों से संवाद किया था। उन्होने बताया कि आज के संवाद में 11 राज्यो के 60 से अधिक जिलो के जिलाधिकारी व अन्य अधिकारीगण शामिल है। उन्होने कहा कि संक्रमण दर व मृत्यु दर में कमी देखी गयी है। उन्होने कार्यक्रम के अंत में सभी का आभार व्यक्त किया।
केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव भारत सरकार ने पाॅवर प्वांइट प्रजेन्टेषन के माध्यम से बताया कि कोरोना पाजिटीव मरीजो की संख्या व मृत्युदर में कमी आयी है। उन्होने कहा कि टेस्टिंग को बढ़ाया गया है तथा लैब की संख्या में भी वृद्धि की गयी है तथा स्वास्थ्य सुविधाओ को बढ़ाया व अपगे्रड किया गया है। उन्होने कहा कि विष्व के प्रमुख देशों की संख्या में हमारे देश में कोरोना संक्रमण व मृत्यु दर तुलनात्मक रूप से काफी कम है।
उन्होने कहा कि दो गज की दूरी का पालन, माॅस्क का उपयोग, नियमित अंतराल पर हाथ धोना व सेनेटाईजर का उपयोग करना अत्यंत आवष्यक है तथा राष्ट्रीय क्लीनिकल मैनेजमेन्ट प्रोटोकाॅल का पालन कराना व उपयोग करना आवष्यक है। उन्होने कहा कि अप्रैल 2020 में टेलीमेडिसिन के लिए ई-संजीवनी लागू की गयी जिसका फायदा अनेको व्यक्तियो ने लिया। उन्होने कहा कि भारत मे टीकाकरण अभियान प्रधानमंत्री द्वारा 16 जनवरी 2021 को प्रारंभ किया गया अब तक 18.70 करोड़ लोगो को वैक्सीन दी जा चुकी है।
प्रधानमंत्री के समक्ष वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से जिलाधिकारी जांजगीर चाम्पा (छत्तीसगढ़) यषवंत कुमार, जिलाधिकारी गुरूग्राम (हरियाणा) डा0 यश गर्ग, जिलाधिकारी एर्णाकुलम (केरल) सुहास एस0, जिलाधिकारी अहमदनगर (महाराष्ट्र) डा0 राजेन्द्र भोसले, जिलाधिकारी बीकानेर (राजस्थान) नमित महता, जिलाधिकारी ईस्ट गोदावरी (आंध्र प्रदेश) मुरलीधर रेड्डी व जिलाधिकारी बरेली (उ0प्र0) नीतीश कुमार ने अपनी तैयारियों, प्रयासो व अनुभव को साझा किया। प्रधानमंत्री ने सभी जिलो के अधिकारियों द्वारा उनके द्वारा किये गये कार्यों की सराहना की।
बरेली के जिलाधिकारी नीतीश कुमार ने कहा कि उन्होने मेरा गांव मेरा अभियान कार्यक्रम चलाया जिससे उन्हें कोरोना नियंत्रण में सहायता मिली। उन्होने किये गये विभिन्न प्रयासो व भविष्य की तैयारियों के संबंध में विस्तार से बताया।
इस अवसर पर लखनऊ से मा0 मुख्यमंत्री जी उ0प्र0, केन्द्रीय गृह मंत्री, एनआईसी मेरठ से जिलाधिकारी के0 बालाजी सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Related posts

महाराजा अग्रसेन सेवा समिति रजि० की एक प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक

मन्दिर महादेव में हुआ दुर्गा माँ के भजनों का गुणगान

सुनील भराला ने प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना का किया शुभारंभ,700 परिवारों को वितरित किए खाद्यान्न पदार्थ

Mrtdarpan@gmail.com

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News