मेरठ दर्पण
Breaking News
दिल्ली

जिलाधिकारियों से मीटिंग के बाद पीएम मोदी बोले- एक्टिव केस कम होना शुरू लेकिन चुनौती बरकरार

दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को देश के 54 और जिलाधिकारियों से बातचीत की प्रधानमंत्री ने देश में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के मद्देनजर बैठक 11 बजे शुरू हुई. बैठक के बाद एक संबोधन में पीएम ने कहा कि बीते कुछ समय से देश में एक्टिव केस कम होना शुरू हुए हैं. लेकिन आपने इन डेढ़ सालों में ये अनुभव किया है कि जब तक ये संक्रमण माइनर स्केल पर भी मौजूद है, तब तक चुनौती बनी रहती है.

पीएम ने कहा कि अपने जीवन से ठीक से काम करें और नियमित रूप से लागू करें और प्रभावी नीतियों को लागू करने में मदद करें. लागू होने वाली तकनीक में भी वैसी ही वैसी ही वैसी ही जैसी वैसी ही जैसी वैसी ही वैसी ही होती हैं.

मोदी ने कहा कि पिछली महामारियां हों या फिर ये समय, हर महामारी ने हमें एक बात सिखाई है. महामारी से डील करने के हमारे तौर-तरीकों में निरंतर बदलाव, निरंतर इनोवेशन बहुत ज़रूरी है. ये वायरस म्यूटेशन में, स्वरूप बदलने में माहिर है, तो हमारे तरीके और रणनीतियां भी गतिशील होने चाहिए.

 

जीवन को आसान बनाए रखने की भी प्राथमिकता- PM
वैक्सीनेशन के संबंध में पीएम ने कहा कि एक विषय वैक्सीन वेस्टेज का भी है. एक भी वैक्सीन की वेस्टेज का मतलब है, किसी एक जीवन को जरूरी सुरक्षा कवच नहीं दे पाना. इसलिए वैक्सीन वेस्टेज रोकना जरूरी है

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि जीवन बचाने के साथ-साथ हमारी प्राथमिकता जीवन को आसान बनाए रखने की भी है. गरीबों के लिए मुफ्त राशन की सुविधा हो, दूसरी आवश्यक सप्लाई हो, कालाबाज़ारी पर रोक हो, ये सब इस लड़ाई को जीतने के लिए भी जरूरी हैं, और आगे बढ़ने के लिए भी आवश्यक है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि दूसरी लहर के बीच वायरस म्यूटेशन की वजह से अब युवाओं और बच्चों के लिए ज्यादा चिंता जताई जा रही है. आपने जिस तरह से फील्ड पर काम किया है इसने इस चिंता को गंभीर होने से रोकने मदद तो की है, लेकिन हमें आगे के लिए तैयार रहना ही होगा.

 

पीएम द्वारा आहूत बैठक में केरल, हरियाणा, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश ,राजस्थान, ओडिशा, झारखंड ,राजस्थान, पश्चिम बंगाल और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी के जिलाधिकारी शामिल है. मिली जानकारी के अनुसार बैठक संपन्न होने के बाद पीएम का संबोधन भी होगा. इससे पहले मंगलवार को पीएम ने देश के अलग-अलग राज्यों के अधिकारियों और 46 जिला मजिस्ट्रेटों से संवाद स्थापित किया था.

मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 86.74 प्रतिशत
उल्लेखनीय है कि भारत में एक दिन मे कोविड-19 के 2,76,110 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,57,72,440 हो गई. वहीं, संक्रमण से 3,874 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 2,87,122 हो गई. देश में चार दिन बाद 24 घंटे में संक्रमण से मौत के चार हजार से कम मामले सामने आए हैं.

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में संक्रमण के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में भी कमी आई है और अभी 31,29,878 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 12.14 प्रतिशत है. आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 2,23,55,440 लोग संक्रमण मुक्त हुए हैं और मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 86.74 प्रतिशत है. वहीं, कोविड-19 से मृत्यु दर 1.11 प्रतिशत है.

Related posts

मोदी ने किया भव्य अशोक स्तंभ का अनावरण

Ankit Gupta

स्वामी प्रसाद मौर्य का योगी कैबिनेट से इस्तीफा, सपा में हुए शामिल, अखिलेश बोले-सामाजिक न्याय का इंकलाब होगा

अस्पतालों में भर्ती होने को नहीं होगी कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट की जरूरत, सरकार की नई गाइडलाइंस

Leave a Comment

Trulli
error: Content is protected !!
Open chat
Need help?
Hello
Welcome to Meerut Darpan News